आदर्श आचार संहिता लागू होते ही हटाए जाने लगे दलों के बैनर और पोस्टर, लखनऊ, मेरठ,शामली, गोरखपुर भी हटे   

 
व

गोरखपुर/लखनऊ/मेरठ/ शामली-  उत्तर प्रदेश में शनिवार को चुनाव आयोग द्वारा विधानसभा चुनाव की घोषणा हाेने पर आचार संहिता प्रभाव में आने के साथ ही लखनऊ सहित विभिन्न शहरों में चुनाव प्रचार के लिये लगाये गये पोस्टर, बैनर और होर्डिंग आदि स्थानीय प्रशासन ने हटाने शुरु कर दिये हैं।
गोरखपुर से मिली जानकारी के मुताबिक महानगर में जिला प्रशासन ने तमाम राजनैतिक दलों के बैनर, पोस्टर तथा झंडे आदि को उतरवाना शुरू कर दिया है। ज्ञात हो कि उत्तर प्रदेश में सात चरण में मतदान होगा। इसके मद्देनजर प्रदेश में चुनाव आचार संहिता तत्काल प्रभाव से लागू हो गयी है।
गोरखपुर जनपद में छठे चरण के तीन मार्च को मतदान कराया जाएगा। जिला निर्वाचन अधिकारी विजय किरन आनंद के निर्देश पर नगर निगम ने गोरखपुर महानगर में विकास भवन, अंबेडकर चौक, शास्त्री चौक, कलेक्ट्रेट चौक और गणेश चौक सहित शहर के प्रमुख स्थानों पर राजनीतिक पार्टियों के पोस्टर बैनर आदि हटवा दिये।
इस बीच पश्चिमी उत्तर प्रदेश में शामली से प्राप्त जानकारी के अनुसार आचार संहिता के लागू होते ही जिला प्रशासन ने भी शहर में सफाई अभियान शुरु कर दिया। शनिवार को एसडीएम ब्रजेश कुमार की निगरानी में कोतवाली पुलिस एवं नगर पालिका की टीम ने शहर में विभिन्न स्थानों से होर्डिंग हटा दिये।
जिलाधिकारी के निर्देश पर विभिन्न कार्यालयों के परिसर में सरकारी योजनाओं से संबंधित लगे पोस्टर वैनर भी हटाये जायेंगे।
पीलीभीत मेें भी चुनाव की घोषणा के उपरांत जिलाधिकारी ने सभी जिले के विभिन्न निर्वाचन अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। उन्होंने आयोग द्वारा कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुये जनसभाओं आदि पर प्रतिबंध लगाने सहित अन्य दिशानिर्देशों का पालन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।
देवरिया में जिलाधिकारी के निर्देश पर एसडीएम सदर सौरभ सिंह के नेतृत्व में नगरपालिका परिषद की टीमों ने शहर में सार्वजनिक स्थानों पर लगे विभिन्न पार्टियों के बैनर पोस्टर को हटवाना शुरू कर दिया।
गौरतलब है कि देवरिया जिले में छठे चरण में तीन मार्च को मतदान होगा। आचार संहिता प्रभावी होने के बाद जिले की पांचों तहसील देवरिया, सलेमपुर, बरहज,रूद्रपुर और भाटपाररानी में स्थानीय प्रशासन ने राजनीतिक दलों के बैनर पोस्टरों को हटवाना शुरू कर दिया है।
सुलतानपुर में जिलाधिकारी ने रविवार तक पूरे जिले को राजनीतिक दलों के पोस्टर बैनरों से मुक्त करने का आदेश दिया है। इस पर स्थानीय प्रशासन ने तत्काल कार्रवाई शुरु करते हुये सफाई अभियान शुरु कर दिया।

मेरठ में भी  चुनाव आयोग द्वारा आज शनिवार को पांच राज्‍यों के लिए चुनावों की तारीखों की घोषणा के साथ ही आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। इसी के साथ मेरठ और आसपास के जिलों में सार्वजनिक स्थानों से राजनैतिक दलों के होडिंग्स,बैनर और पोस्टरों को हटाए जाना शुरू हो गया है। वहीं मेरठ विकास प्राधिकरण की बोर्ड बैठक 10 जनवरी को होनी है लेकिन शनिवार दोपहर बाद आचार संहिता लगने के बाद एमडीए की बोर्ड बैठक रद हो सकती है। हालांकि यह अभी स्पष्ट तौर से नहीं कहा जा सकता कि बोर्ड बैठक आचार संहिता लगने के बावजूद नहीं हो पाएगी।
सार्वजनिक स्थानों से हटाए जाएंगे दलों के होडिंग्स
आदर्श आचार संहिता लगते ही शहर में लगे राजनैतिक दलों के होर्डिंग्स बैनर पोस्टर समेत अन्य प्रचार सामग्री सार्वजनिक स्थानों से हटाना शुरू हो गया है।। नगर आयुक्त मनीष बंसल ने निर्देश जारी किए हैं। इसके साथ ही इस व्यवस्था को प्रभावी बनाने के लिए तीन टीमों का गठन कर दिया गया है। अपर नगर आयुक्त ममता मालवीय को मुख्यालय जोन की कमान दी गई है। जबकि सहायक नगर आयुक्त बृजपाल सिंह और मुख्य कर निर्धारण अधिकारी अवधेश को शास्त्री नगर जोन की जिम्मेदारी दी गई है।
ऐसी की है तैयारी
वहीं सहायक नगर आयुक्त इंद्र विजय और संपत्ति अधिकारी राजेश सिंह को कंकरखेड़ा जोन की जिम्मेदारी दी गई है। नगर आयुक्त मनीष बंसल ने कहा कि आदर्श आचार संहिता लगते ही राजनैतिक दलों के होर्डिंग बैनर पोस्टर समेत सभी प्रकार की चुनाव प्रचार सामग्री हटाई जाएगी। दीवारों पर राजनीतिक दलों की वाल पेंटिंग को काली काला किया जाएगा। आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन पाए जाने पर एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। प्रत्येक वार्ड में कर अनुभाग के राजस्व निरीक्षक और सफाई एवं खाद्य निरीक्षक व सफाई नायक इस पर नजर रखेंगे। आदर्श आचार संहिता लगने के 24 घंटे के भीतर यह कार्रवाई संपन्न की जाएगी।

From around the web