योगी सरकार का बड़ा फैसला, अब महापुरुषों की जयंती और शिवरात्रि पर नहीं होगी मांस की बिक्री, आदेश जारी

 
े

मेरठ। शहरी विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव डॉ. रजनीश दुबे ने आदेश जारी किया है। जिसमें कहा गया है कि अब महापुरुषों की जयंती और शिवरात्रि के मौके पर बूचड़खानों के अलावा मांस की दुकानें भी बंद रहेंगी। सभी अधिकारियों को आदेश का कड़ाई से पालन करने के निर्देश भी दिए है।
सूबे की योगी सरकार ने एक और अहम फैसला लेते हुए महापुरुषों की जयंती और शिवरात्रि के मौके पर बूचड़खानों और मीट की दुकानों को बंद रखने का आदेश दिया है।  नगर विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव रजनीश दुबे ने इस संबंध में सभी जिलों के संभागीय आयुक्तों और जिलाधिकारियों को आदेश जारी करते हुए इसका कड़ाई से पालन कराने के निर्देश दिए हैं। शहरी विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव डॉ. रजनीश दुबे ने जारी आदेश में कहा कि महापुरुषों की जयंती के मौके पर सभी नगरीय निकायों में स्थित बूचड़खानों के अलावा मांस की दुकानें भी बंद रहेंगी। सभी अधिकारियों को आदेश का कड़ाई से पालन करने के भी निर्देश दिए गए हैं।
यह आदेश है।
आदेश में कहा गया है कि महावीर जयंती, बुद्ध जयंती, गांधी जयंती, शिवरात्रि और साधु टीएल वासवानी की जयंती के अवसर पर नगरीय निकायों में स्थित बूचड़खानों के अलावा मांस की दुकानें बंद रखी जाएंगी। इसके पीछे तर्क यह रहा है कि अहिंसा का संदेश देने वाले महापुरुषों और त्योहारों को देखते हुए उनकी जयंती को अहिंसा दिवस के रूप में मनाने का निर्देश दिया गया है। गौरतलब है कि 2017 में सत्ता में आने के बाद योगी सरकार ने अवैध स्लॉटर हाउस पर नकेल कसी थी। साथ ही खुले में मीट की बिक्री पर भी रोक लगा दी गई है।

From around the web