मेरठ में कम हुआ ब्लैक फंगस का खौफ,स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या बढ़ी

 
1
मेरठ। कोरोना के बाद अब जिले में ब्लैक फंगस का खौफ भी कम होने लगा है। ब्लैक फंगस से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या में अब इजाफा हो रहा है। गुरूवार रात तक ब्लैक फंगस के शिकार 148 लोगों ने इसको हरा दिया और वे अपने घर चले गए। इन मरीजों की कोई सर्जरी नहीं हुई ये लोग दवा से ही ठीक हुए हैं। इस समय जिले में 109 मरीज ब्लैक फंगस के हैं, जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है।  
अब तक ब्लैक फंगस के 280 मरीज सरकारी व निजी अस्पतालों में भर्ती हुए। जिनमें 22 की मौत हो चुकी है। वहीं, मेडिकल कॉलेज के अलावा अन्य प्राइवेट अस्पतालों से 148 मरीज डिस्चार्ज हो चुके हैं। कई मरीजों की आंख की रोशनी भी गई है। छह हफ्ते तक इनकी निगरानी कर दवाएं चलाई जा रही हैं, ताकि वायरस दोबारा हावी न हो। 
मेडिकल कॉलेज के कोविड ब्लाक प्रभारी डॉ. धीरज राज का कहना है कि ब्लैक फंगस से मौत के मुकाबले मरीजों में रिकवरी बेहतर है। उनके यहां 182 मरीज भर्ती हुए थे। जिनमें से 75 की छुट्टी हो चुकी है। 92 का उपचार चल रहा है। उधर, 16 से ज्यादा मरीजों की सर्जरी कर चुके डॉ. पुनीत भार्गव और मेडिकल कॉलेज के ईएनटी विशेषज्ञ डॉ. वीपी सिंह कहते हैं कि अगर बीमारी शुरुआती चरण में ही पकड़ ली जाए और सही इलाज हो तो मरीज स्वस्थ हो सकता है।

From around the web