जिले में कोरोना से चार की मौत, संक्रमितों की संख्या हुई 1500 पार, बंद हुए कालेज

 
ू
मेरठ। जिले में कोरोना की स्थिति भयावह होती जा रही है। अब तक कोरोना से चार लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं संक्रमितों की संख्या भी दिनों—दिन बढ़ती जा रही है। अगर यहीं हाल रहा तो स्थिति दूसरी लहर से भी भयावह होगी। मेरठ में एक दिन में कोरोना के 560 मरीज मिले हैं। पिछले सात महीने में एक दिन में मिले मरीजों की संख्या में ये सबसे अधिक है।
कोरोना ने अब लोगों की जान लेनी शुरू कर दी है। अब तक कोरोना से चार लोगों की मौत हो चुकी है। तीन मरीजों की मौत पहले हो चुकी है। जबकि चौथे मरीज की मृत्यु इलाज के दौरान अस्पताल में हुई है। मरीज का नाम प्रणव कुमार है जो कि मवाना के रहने वाले थे। इनको कोरोना संक्रमण के साथ किडनी की परेशानी भी चल रही थी। किडनी की परेशानी काफी पहले से चल रही थी। उनको बुखार होने पर जांच कराई गई तो कोरोना पाजिटिव पाए गए थे। इसके बाद जिला अस्पताल में भर्ती करा दिया गया था। जहां पर उनका इलाज चल रहा था। हालात खराब होने पर उन्हें मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया था जहां पर शनिवार शाम को उनकी मौत हो गई। जिले में एक दिन में कोरोना के 560 सं​क्रमित मिले हैं। यह संख्या पिछले 7 महीने में सबसे अधिक बताई जा रही है।
560 संक्रमितों में चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय के दो शिक्षक और चार छात्र-छात्राएं भी शामिल हैंं। कैंपस के हॉस्टलों में आरटीपीसीआर टेस्ट कराए जाने पर तीन छात्र और एक छात्रा संक्रमित पाई गई है। इन सभी को आइसोलेट कर दिया गया है। इनके परिजनों को भी सूचना दे दी गई है। कैंपस में कोरोना की एंट्री होने के बाद वीसी संगीता शुक्ला ने सभी हास्टल खाली करने के निर्देश जारी किए हैं। इसके बाद सभी कालेजों को भी 10 जनवरी से 16 जनवरी तक के लिए बंद कर दिया गया है। अब सिर्फ आनलाइन कक्षाएं ही संचालित होगी।
जिले में अब एक्टिव केसों की संख्या 1581 हो चुकी है। इनमें से 1564 मरीज घर पर इलाज करा रहे हैं। जबकि बाकी का अस्पताल में इलाज चल रहा है। शनिवार को 16 मरीजों को अस्पताल से छुटटी दे गई है।

From around the web