क्या सरधना से कट रहा है अतुल प्रधान का टिकट, सपा जिलाध्यक्ष ने किया इशारा

 
1
मेरठ। समाजवादी पार्टी के जिले में कद्दावर नेता और सरधना से दो बार विधानसभा चुनाव लड़ चुके अतुल प्रधान के तीसरी बार यहां से चुनाव लड़ने पर संशय के बादल छाने लगे हैं। खुद सपा जिलाध्यक्ष ने इस बात का इशारा किया है कि इस बार अतुल की बजाय किसी और को चुनाव लड़ाया जा सकता है। हालांकि सपा मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से नजदीकियों के चलते सरधना सीट पर अतुल की दावेदारी को कमजोर भी नहीं आंका जा सकता, लेकिन इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता कि अतुल की सरधना सीट पर पार्टी के ही अन्य कई नेताओं की निगाहें भी टिकी हुई हैं। वहीं जिलाध्यक्ष के संकेत के बाद अतुल के टिकट को लेकर पार्टी और समर्थकों में ही सुगबुगाहट शुरू हो गई है।
असल में इस सारी चर्चा को उस समय बल मिला जब सपा जिलाध्यक्ष राजपाल सिंह ने सपा के ही एक युवा नेता गौरव चौधरी की सरधना सीट से दावेदारी जताती फेसबुक पोस्ट को शेयर करते हुए एक तरह से उसका समर्थन किया। हालांकि बिना किसी कमेंट के शेयर की पोस्ट में राजपाल सिंह ने बिना कुछ कहे भी काफी कुछ कह दिया। माना जा रहा है कि सपा नेता गौरव चौधरी को राजपाल सिंह का वरदहस्त हासिल है जो सरधना सीट से विधानसभा चुनाव लड़ना चाहते हैं। राजपाल सिंह ने पोस्ट शेयर की तो उसमें पक्ष विपक्ष के कमेंट की बाढ़ आ गई। हालांकि ज्यादातर समर्थकों ने राजपाल सिंह को ही आड़े हाथ लेते हुए अतुल प्रधान की ही तरफदारी की। हालांकि कुछ लोग अतुल प्रधान की बजाय नये प्रत्याशी का समर्थन करते भी नजर आए। उनका तर्क था कि अतुल प्रधान सरधना सीट से दो बार विधानसभा चुनाव हार चुके हैं ऐसे में किसी नए प्रत्याशी को आजमाना चाहिए। उनका तर्क था कि सरधना सीट पर जाट और मुस्लिम समीकरण चुनाव जिता सकता है। बता दें कि गौरव चौधरी जाट बिरादरी से आते हैं जबकि खुद राजपाल सिंह भी जाट हैं। ऐसे में उनके समर्थन पर सवाल उठाने वाले भी बहुत हैं जो इसे राजपाल सिंह का पक्षपातपूर्ण रवैया भी बता रहे हैं। खास बात ये रही पोस्ट पर कमेंट करने वाले कुछ लोग ऐसे भी रहे जिन्होंने दावा किया कि अतुल प्रधान इस बार अपनी सीट बदलना भी चाहते हैं। वह सरधना की बजाय दक्षिण विधानसभा से ताल ठोंकने के इच्छुक हैं, जहां गुर्जर बिरादरी की वोट भी अच्छी खासी संख्या में हैं। हालांकि यहां भी उनकी राह इलती आसान नहीं है, जहां उनके सामने मौजूदा विधायक और गुर्जर बिरादरी से ताल्लुक रखने वाले सोमेन्द्र तोमर मैदान में रहेंगे। जानकारों की मानें तो अतुल प्रधान सरधना से अपना टिकट पक्का मानकर चल रहे हैं इसलिए लॉकडाउन और अन्य मौकों पर भी वह सरधना के लोगों के लिए मैदान में संघर्ष करते नजर आए हैं। पर राजनीति का उंट कब किस करवट बैठ जाए कोई कह नहीं सकता।

From around the web