मेरठ: गलियों और मोहल्लों में अवैध रूप से चल रहे अस्पताल और ट्रामा सेंटर, छात्र नेता ने लिखा मुख्यमंत्री को पत्र 

 
1
मेरठ। मेरठ जिले के गलियों और मोहल्लों में अवैध रूप से बिना मानकों के अस्पताल और ट्रामा सेंटर संचालित हो रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग देख के बाद भी इनकी अनदेखी कर रहा है। यह कहना है छात्र नेता विनीत चपराना का। छात्र नेता ने अवैध रूप से खुले इन अस्पतालों और ट्रांमा सेंटरों पर कानूनी शिकंजा कसने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है। जिसमें उन्होंने आरोप लगाए हैं कि मेरठ स्वास्थ्य विभाग की नाक के नीचे गढ रोड में प्रत्येक कॉलोनी और गली-मोहल्ले में दर्जनों अस्पताल और ट्रामा सेंटर बिना मानकों के संचालित हो रहे हैं। इन अस्पतालों पर नियमित मॉनिटरिंग की जरूरत है। जिससे यह मानवीय संवेदनाओं के साथ खिलवाड़ न कर सकें। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान निजी अस्पताल संचालकों की मनमानी के चलते हालात बिगडे़ थे। जिसमें असंख्य कोरोना मरीजों को अपनी जा न से हाथ धोना पड़ा था। अस्पताल प्रबंधकों की लापरवाही के कारण ही कोविड के दौरान विषम परिस्थितियां पैदा हुई। छात्र नेता विनीत चपराना ने विवि के सभी छात्रों की ओर से मुख्यमंत्री से अनुरोध किया है कि जनपद के स्वास्थ्य विभाग को इन अवैध अस्पतालों पर शिकंजा कसने के लिए निर्देश दिए जाए।

From around the web