मेरठः पुरानी रंजिश में जाट व दलित पक्ष आमने-सामने, दनादन 20 राउंड फायरिंग में एक की मौत

 
1


मेरठ। सरधना थाना क्षेत्र के पोहल्ली गांव में पुरानी रंजिश को लेकर जाट व दलित पक्ष आमने-सामने आ गए। जिसमें पथराव के बाद करीब 20 राउंड फायरिंग हुई। इस दौरान खेत से आ रहे वैश्य समाज के युवक को गोली लग गई। जिसे आनन-फानन में कैलाशी अस्पताल ले जाया गया। जहां, चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना पर सीओ आरपी शाही सहित एक थाने की पुलिस पहुंची। वहीं, गांव में तनाव के माहौल व शांति-व्यवस्था बनाने के लिए पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।
पोहल्ली निवासी रविंद्र चौधरी पुत्र मलखान व दलित पक्ष में पुरानी रंजिश चल रही है। ग्रामीणों ने बताया कि बुधवार सुबह दलित पक्ष के दो युवक बाइक पर सवार होकर घर के आगे को जा रहे थे। आरोप है कि उसी समय किसी ने कह दिया था कि इधर से मत जाया करो। क्योंकि, पुराना मामला चल रहा है। इस पर उक्त दोनों युवक वापस चले गए थे। इसी बीच में जाट पक्ष कई युवक के साथ हाथ में ईंट व अवैध हथियार लेकर आ गए। वहीं, खेत से रविंद्र चौधरी, सुरेश, सुधीर पुत्र तिलकचंद गुप्ता व उनका भतीजा हिमांशु खेत से काम करके लौट रहे थे। तभी आरोपितों ने पथराव व दनादन फायरिंग शुरू कर दी। जिसमें एक गोली वैश्य समाज के सुरेश को लग गई।
ग्रामीणों ने बताया कि इस बीच करीब बीस राउंड फायरिंग हुई। हालांकि, इस बीच दलित समाज के लोग भी घायल हो गए। आनन-फानन में गोली लगे सुरेश को कैलाशी अस्पताल ले गया। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। उधर, सूचना पर सीओ आरपी शाही व सरूरपुर थाने की पुलिस पहुंची और सुरेश के स्वजन व आसपास के ग्रामीणों का आक्रोश को देखते हुए कार्रवाई का आश्वासन दिया। इसके बाद बिगड़ते हालात को देखते हुए एसपी देहात केशव कुमार मौके पर पहुंचे और पुलिस बल तैनात कर दिया।


एक माह पहले दलित व जाटव पक्ष में हुआ था विवाद
ग्रामीणों ने बताया कि एक माह पहले दलित पक्ष की महिला मेरठ-करनाल हाईवे पर जा रहे थे। तभी जाटव पक्ष के बाइक सवार युवक की टक्कर हो गई थी। इस मामले में मुकदमा भी दर्ज हुआ था। उधर, दलित पक्ष का कहना है कि युवक ट्यूशन पढ़ने के लिए जा रहा था। इस दौरान जाट समाज के लोगों ने उसे बंधक बना लिया और मारपीट की थी।

From around the web