मेरठः मौत के मुंह से वापस आई तो डॉक्टरों की जिंदाबाद के नारे लगाती मेडिकल से वापस लौटी कोविड पेशेंट महिला

 
1

मेरठ। जिले में लगातार कहर बरपा रहे कोरोना के दौरान कई दिनों बाद मेडिकल कॉलेज में एक सुखद नजारा देखने को मिला। कई दिनों से मेडिकल की आईसीयू में भर्ती कोविड पेशेंट महिला स्वस्थ होकर घर लौटी तो उसके चेहरे पर अलग ही खुशी देखने को मिली। हॉस्पिटल की आईसीयू से वापस लौट रही महिला डॉक्टरों की जिंदाबाद के नारे लगाती नजर आई। मेडिकल के प्राचार्य डॉ ज्ञानेंद्र कुमार ने दावा किया कि अब हॉस्पिटल में भर्ती मरीजों की हालत में तेजी के साथ सुधार हो रहा है।

दरअसल शहर की रहने वाले सेंसरपाल की पत्नी सुनीता को कोरोना संक्रमण था। 10 दिन पहले सुनीता का ऑक्सीजन लेवल 74 रह गया था। जिसके बाद परिवार के लोगों ने सुनीता को मेडिकल की आईसीयू में एडमिट कराया। मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ ज्ञानेंद्र कुमार ने बताया कि सुनीता को अस्थमा भी था। जिसके चलते डॉक्टरों को सुनीता पर विशेष ध्यान देना पड़ा। मंगलवार को पूरी तरह से स्वस्थ होने के बाद सुनीता को मेडिकल इमरजेंसी से डिस्चार्ज किया गया। इमरजेंसी से वापस लौटते समय सुनीता के चेहरे पर खुशी देखने को मिली। उन्होंने मेडिकल के डॉक्टर अरुण शर्मा सहित अन्य सभी डॉक्टरों का आभार जताते हुए अपनी जान बचाने के लिए उनका धन्यवाद किया। इमरजेंसी से वापस लौटती सुनीता कई बार डॉक्टरों की जय जयकार करती दिखाई दीं। वहीं मेडिकल के प्राचार्य डॉ ज्ञानेंद्र कुमार का दावा है कि अब अधिकांश मरीजों की हालत में तेजी के साथ सुधार हो रहा है। उन्होंने बताया कि मंगलवार को भी मेडिकल से 21 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किया जा रहा है।

From around the web