मेरठः जिले में नहीं ऑक्सीजन की कोई कमी, स्टॉक ना करें हॉस्पिटल'

 
1

मेरठ। जिले में लगातार चल रही ऑक्सीजन की किल्लत को दूर करने के लिए प्रशासन एक्टिव मोड में है। जिसके चलते हॉस्पिटलों में ऑक्सीजन की आपूर्ति बहाल रखने के लिए प्रशासन की कोर टीम 24 घंटे कोशिश में जुटी हैं। एडीएम सिटी अजय तिवारी ने दावा किया कि जिले को निर्धारित किए गए ऑक्सीजन के कोटे के मुताबिक जिले में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है। मगर दहशत के चलते कुछ हॉस्पिटल ऑक्सीजन होल्ड करके चल रहे हैं। जिसके चलते सिलेंडरों की कमी के कारण आपूर्ति की चेन ब्रेक हो रही है। उन्होंने सभी हॉस्पिटल्स से ऑक्सीजन स्टॉक ना करने की अपील की है।

एडीएम सिटी अजय तिवारी ने बताया कि जिले में पांच स्थानों पर ऑक्सीजन सिलेंडर रिफिल किए जा रहे हैं। जहां से जिले के सभी हॉस्पिटलों को ऑक्सीजन की सप्लाई की जा रही है। रोजाना लगभग तीन हजार सिलेंडर जिले के अस्पतालों में भेजे जा रहे हैं। जिनमें 32 कोविड हॉस्पिटल्स सहित नॉन कोविड हॉस्पिटल्स भी शामिल हैं। इसी के साथ जिले में बनाए गए दो सेंटरों से रोज छह सौ से आठ सौ सिलेंडर ऐसे मरीजों को दिए जा रहे हैं जो होम आइसोलेशन में हैं। एडीएम सिटी ने दावा किया कि जिले में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन की आपूर्ति हो रही है। आलम यह है कि दिल्ली और हरियाणा से भी लोग आकर मेरठ के सेंटरों से सिलेंडर ले जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कुछ हॉस्पिटल ऑक्सीजन का स्टॉक खत्म हो जाने के डर से अपने हॉस्पिटल्स में ऑक्सीजन सिलेंडर स्टॉक करके चल रहे हैं। जिसके चलते सिलेंडरों की रिफिल करने की चेन ब्रेक हो रही है। उन्होंने ऐसे हॉस्पिटलों से ऑक्सीजन होल्ड ना करने की अपील की है।

From around the web