हरे पेड़ों पर चला दिया कुल्हाड़ा,स्थानीय नेताओं की शह पर छलनी किया जा रहा हरियाली का कलेजा

 
j
मेरठ। कैंट के लालकुर्ती में हरे पेड़ों की कटाई की शिकायत स्थानीय लोगों ने की है। पेड़ काटने का वीडियो भी वायरल किया गया। वीडियो में पूर्व उपाध्यक्ष सुनील वाधवा और निवर्तमान सभासद अनिल जैन भी नजर आ रहे हैं। ऐसे में वहां के कुछ लोगों ने आरोप लगाया है कि पेड़ों की यह कटाई का काम इन्हीं नेताओं की देखरेख में हो रहा है, हालांकि इसका दोनों ने खंडन किया है।
इनकी मौजूदगी में हुई कटाई
लालकुर्ती में कालीचरण का पुराना हाता है। जिसमें कई हरे पेड़ हैं। यहां हरे पेड़ों को आरी और कुल्हाड़ी से काटकर गिरा दिया गया। स्थानीय लोगों का आरोप है कि पूर्व उपाध्यक्ष सुनील वाधवा और पूर्व सभासद अनिल जैन की मौजूदगी में पेड़ कटा। जहां वायु प्रदूषण की समस्या विकराल होती जा रही है, वहां इस तरह से हरे पेड़ काटे जा रहे हैं, जो वैधानिक भी नहीं है। अभी तक इस मामले में न तो कैंट बोर्ड और न ही वन विभाग ने ही कोई संज्ञान लिया है। सोमवार को इस प्रकरण की छानबीन करने की बात सरकारी दफ्तर कर रहे हैं।
इन्‍होंने दी अपनी सफाई
उधर, इस मामले में पूर्व उपाध्यक्ष सुनील वाधवा का कहना है कि इस प्रकरण से उनका कोई लेना-देना नहीं है। जिसकी जमीन है वह साफ सफाई करा रहे थे। उस समय वह उनके बुलाने पर चले गए थे। वहीं, निवर्तमान सभासद अनिल जैन का कहना है कि राजीव के नाम से यह बहुत पुरानी प्रापर्टी है। कुछ लोगों ने कब्जा किया हुआ है। पीछे झाडिय़ों की कटाई छटाई की गई। सभासद होने की वजह से वह वहां गए थे। पेड़ कटवाने जैसे आरोप बेबुनियाद हैं।

From around the web