इन आसान तरीकों से अपना जीएसटी फाइल करें व्यापारी, नहीं होगी कोई समस्या

 
ह

मेरठ। व्यापारी छोटा हो या फिर बड़ा। उसके सामने सबसे बड़ी समस्या जीएसटी रिटर्न फाइल करने की आती है। जीएसटी रिटर्न फाइल करने में देरी से या लापरवाही से इसके गंभीर नतीजें भारी-भरकम जुर्माने के रूप में चुकाने होते हैं। लेकिन यहां पर हम आपको कुछ आसान तरीके बता रहे हैं। जिससे आप अपना जीएसटी रिटर्न खुद फाइल कर सकते हैं।
जीएसटी रिटर्न दाखिल करने के लिए बार-बार वकील को फोन कर रहे हैं और इसके बाद भी जीएसटी रिटर्न फाइल नहीं हो रहा है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। जीएसटी रिटर्न फाइल करने के लिए किसी को शुल्क देने की भी जरूरत नहीं है। लेकिन देखा जाता है कि छोटे व्यापारी इस उलझन में रहते हैं कि वो जीएसटी रिटर्न कैसे फाइल करें। अगर आप भी इस समस्या से जूझ रहे हैं, तो इसका सरल तरीका बताने जा रहे हैं। तो चलिए जानते हैं।
जीएसटी रिटर्न फाइल करने तरीका:-
सबसे पहले जीएसटी के पोर्टल www.gst.gov.in पर जाना है। यहां जाकर अपना पैन कार्ड नंबर और अपने राज्य का कोड डालना है। ये भरते ही 15 अंकों का जीएसटी नंबर मिल जाएगा। अब अपना चालान यहां अपलोड करना है। यहां से हर एक चालान के लिए अलग चालान नंबर मिलेगा। इसके बाद आपको आउटवर्ड रिटर्न, आवक वापसी और संचयी मासिक रिटर्न ऑनलाइन दाखिल करना होगा। कहीं अगर इस प्रक्रिया में कोई एरर आती है, तो उसे सही करना है और रिटर्न को री-फाइल करने का विकल्प चुनना है।
फिर अगले महीने की 10 तारीख को या उससे पहले जीएसटी सामान्य पोर्टल पर सूचना अनुभाग के जरिए जीएसटीआर-1 फॉर्म में बाहरी आपूर्ति रिटर्न दाखिल करें। इसके बाद सप्लायर द्वारा सुसज्जित आउट सप्लाई का जीएसटीआर-2ए में उपलब्ध कराया जाएगा।
अब जीएसटीआर-2 फॉर्म में अंदर की आपूर्ति का विवरण दर्ज करना होगा। वहीं, पूर्तिकर्ता जीएसटीआर-1ए में प्राप्तकर्ता द्वारा उपलब्ध कराई गई इनवर्ड सप्लाई की जानकारी के सुधार को स्वीकार या अस्वीकार कर सकता है।

From around the web