दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस पर प्रतिदिन चलने वाले वाहन स्वामियों को टोल टैक्स में मिलेगी ये विशेष छूट 

 
1


मेरठ। अगर अपने वाहन से दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर रोजाना यात्रा करते हैं तो ऐसे वाहन चालकों को एक विशेष छूट मिलेगी। इस छूट के तहत एक महीने में 10 यात्राओं पर टोल टैक्‍स नहीं देना पड़ेगा। टोल वसूली शुरू होते ही यह व्‍यवस्‍था लागू की जाएगी। इसकी सुविधा टोल प्लाजा व आनलाइन व्यवस्था के तहत उपलब्ध हो जाएगी।
एक्सप्रेस-वे पर रोजाना यात्रा करने वालों के लिए एक महीने का पास बनेगा। दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के परियोजना निदेशक मुदित गर्ग ने बताया कि इस पास का मतलब होगा कि संबंधित वाहन एक महीने में 60 यात्रा करेगा। प्रतिदिन उसके फास्टैग खाते से धनराशि कटती जाएगी, लेकिन जब एक महीना पूरा हो जाएगा तब उस खाते में 10 यात्रा की धनराशि वापस कर दी जाएगी। इस तरह से सिर्फ 50 यात्रा का ही टोल लिया जाएगा। जब इस तरह का पास लिया जाएगा, उसके वाहन पर लगे फास्टैग में उस पास की कोडिंग डाल दी जाएगी। जब इस तरह के वाहन गुजरेंगे तब ऑटोमेटिक मशीन उसे फास्टैग कैटेगरी में डाल देगी।


छूट श्रेणी वाले व्यक्तियों का शुल्क चुकाता है एनएचएआइ: कोई भी वाहन एक्सप्रेस-वे से गुजरेगा तो उसको टोल चुकाना होगा। यही व्यवस्था वीआइपी गाड़ियों व एनएचएआइ की सूची में दर्ज छूट प्राप्त लोगों की गाड़ियों के साथ भी रहेगी। फर्क इतना है कि ऐसे वाहनों के फास्टैग अलग तरह के होते हैं या फिर उसमें कोडिंग व्यवस्था होती है। इन तरह की गाड़ियों का फास्टैग शुल्क संबंधित कंपनी के खाते में जुड़ता है जिसका भुगतान बाद में एनएचएआइ खुद उस ठेका कंपनी को करता है।

From around the web