दलों के वार रूम तैयार, सियासी दलों ने सत्ता संग्राम जीतने को की ये सोशल प्लेटफार्म पर घातक तैयारी

 
78
मेरठ। चुनावी तिथियों का ऐलान होते ही सियासी दलों ने अपनी तैयारी को तेज कर लिया है। कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए चुनाव आयोग ने काफी सख्ती की है। इस कारण अब पूरा चुनाव हाईटैक हो गया और सोशल मीडिया प्लेटफार्म ही वोटरों तक पहुंच का आधार बनेगा। समर का ऐलान होते ही सियासी दलों ने प्रत्याशियों की सूची जारी करने की तैयारी तेज कर दी है। भाजपा, सपा-रालोद, कांग्रेस और बसपा के वॉर रूम  में भी वर्चुअल रैलियों की योजना बन रही है।
इस बार मतदाताओं को लुभाने के लिए किसी प्रकार का नारा या फिर सड़कों पर शोर नहीं करना होगा। मतदाताओं को लुभाने और उनके दिल में अपनी छाप छोड़ने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म को मजबूत किया जा रहा है। दलों के कार्यकर्ता और उम्मीदवार फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम पर भी रहेंगे। इन सोशल मीडिया के जरिए युवाओं से लेकर बुजुर्ग तक को अपने पक्ष में करने की कोशिश होगी।
भाजपा की वर्चुअल संवाद की तैयारी पूरी :
विधानसभा चुनाव में भाजपा ने शहर से गांव तक मतदाताओं से वर्चुअल संवाद की पूूरी तैयारी कर ली है। क्षेत्रीय अध्यक्ष मोहित बेनीवाल ने आईटी टीम और सोशल मीडिया प्रभारियों को चुनाव आयोग की गाइडलाइन के मुताबिक जुट जाने के निर्देश दिए हैं। वे खुद वर्चुअल मोड में चुनाव प्रचार की सारी निगरानी करेंगे। भाजपा के क्षेत्रीय कार्यालय में बनाए गए सोशल मीडिया वाॅर रूम से सोमवार को वर्चुअल चुनावी अभियान की शुरूआत हो जाएगी।
भाजपा के मीडिया प्रभारी आलोक सिसौदिया ने बताया कि कोरोना की पहली लहर से ही भाजपा ने आईटी और सोशल मीडिया के क्षेत्र में बूथ स्तर तक पूरे पश्चिम के कार्यकर्ताओं को जोड़ लिया था। शहर के अलावा गांव-गांव तक वर्चुअल नेटवर्क है, ऐसे में कहीं भी किसी से संवाद किया जा सकता है।
हर बूथ पर 5 आईटी सेल कार्यकर्ता सक्रिय :
सपा के जिलाध्यक्ष राजपाल सिंह का कहना है कि चुनाव आयोग की जो गाइडलाइन होगी समाजवादी पार्टी पूरी तरह से पालन करेगी। समाजवादी पार्टी की आईटी सेल पूरी तरह से सक्रिय हो चुकी है। मेरठ की सातों विधानसभाओं में 2947 बूथ पर हर बूथ पर 5 आईटी सेल के कार्यकर्ता सक्रिय हैं। सातों विधानसभा में 2947 बूथ पर आईटी सेल के 14735 कार्यकर्ता पूरी तरह से चुनाव कराने के लिए तैयार है। हाईकमान आईटी सेल के ग्रुप की मॉनिटरिंग लखनऊ से कराई जा रही है। मेरठ में इसकी मानिटरिंग का जिम्मा खुद जिलाध्यक्ष चौधरी राजपाल सिंह
 के हाथ में है। समाजवादी पार्टी वर्चुअल रैली के लिए पूरी तरह से तैयार है।
आप का दावा वर्चुअल प्रचार में उनसे आगे कोई नहीं :
चुनाव प्रचार के लिए सभी दल तैयारी में जुट गए हैं। आम आदमी पार्टी (आप) का दावा है कि वर्चुअल प्रचार में उनकी पार्टी सबसे आगे है। पार्टी ने सदस्यता अभियान के दौरान ही लोगों के व्हाट्सएप नंबर भी एकत्र कर लिए हैं। आम आदमी पार्टी के जिलाध्यक्ष अंकुश चौधरी का कहना है कि उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने दिल्ली में जनता से सीधे संपर्क करके दो बार सरकार बनाई है। उसी तर्ज पर आप के कार्यकर्ता प्रदेश में पहले दिन से ही जनसपंर्क अभियान चला रहे हैं। पार्टी की आईटी सेल भी है, जो लखनऊ से काम करती है।

From around the web