नवमी की पूजा के साथ ही आराधना का पर्व नवरात्रि का समापन

 
1
मेरठ। मां दुर्गा की आराधना के पर्व नवरात्रि का आज नवमी को समापन हो रहा है। इस दौरान नौ दिन देवी की पूजा के बाद कुछ लोग आज नवमी को भी कन्‍याओं की पूजा करते हैं। मेरठ के मंदिरों के बाहर आज कन्याओं की भीड़ जुटी हुई है। वहीं घरों में भी कन्या पूजन और उनको भोज कराने की तैयारियां चल रही हैं। नवरात्रि में कन्‍याओं का पूजन करने और उन्‍हें भोजन कराने का बहुत महत्‍व है क्‍योंकि छोटी कन्‍याओं को मां दुर्गा का रूप माना जाता है। खास कर जो लोग व्रत कर रहे हों या जिनके घरों में घट स्‍थापना हुई हो, ऐसे लोग कन्‍या पूजन और उनको भोज जरूर करवाते हैं। कन्‍या पूजन के लिए सही दिन नवरात्रि की अष्‍टमी और नवमी तिथि होती हैं। मां दुर्गा के नौ दिनों चलने वाले पर्व को कन्या पूजन के साथ समाप्त किया जाता है। कन्या पूजन का नवरात्रि में बहुत ही महत्व माना गया है। कुछ लोग नवरात्रि के आठवें दिन यानी अष्टमी तिथि और कुछ नवमी तिथि में कन्या पूजन करते हैं। इस बार नवरात्रि 8 दिन के मनाए गए थे। आज गुरूवार को नवमी में कन्या पूजन किया जा रहा है। नवमी में कन्या पूजन का विशेष महत्व बताया गया है। नवमी की तिथि मे मां सिद्धिदात्री की पूजा लोग घरों में कर रहे हैं। मेरठ के सदर काली बाडी मंदिर,मंशा देवी मंदिर, गोल मंदिर, वैष्णो देवी की गुफा वाला मंदिर के अलावा अन्य मंदिरों में सुबह से ही देवी के भक्तों की लंबी कतारें लगी रही। सदर काली बाड़ी मंदिर में लोगों ने पूजा अर्चना कर वहीं पर बाहर बैठी कन्याओं का पूजन करने के बाद उनको भोग लगाया। घर में भी श्रद्धालुओं ने कन्यओं को बुलाकर पूजा—अर्चना की और फिर उनको भोजन कराया।

From around the web