मुलायम ने किया विपक्ष से एकजुट होने का आह्वान, कुमार विश्वास को दिया सपा में आने का न्यौता 

 
न

लखनऊ, - समाजवादी पार्टी (सपा) के संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने मंहगाई, बेरोजगारी ओर भ्रष्टाचार के मुद्दे पर विपक्ष की एकजुटता का आह्वान करते हुये कहा कि जब जब देश पर कोई चुनौती आयी है तब तब सब एक हुये हैं।

मुलायम सिंह ने मंगलवार को यहां पार्टी के महासचिव और राज्यसभा सांसद प्रो रामगोपाल यादव की पुस्तक 'राजनीति के उस पार' के विमोचन समारोह को संबोधित करते हुये उन्होंने कहा कि , “देश के सामने जब कोई भी चुनौती आई है, तब सब एक साथ खड़े हुए हैं। मंहगाई और भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ पूरा देश खड़ा है। आज यहां सारा देश बैठा है,हम चाहते हैं कोई भी विषय हो, इसी तरह सब एक साथ बैठकर समाधान निकालें।”

हालांकि इस दौरान कार्यक्रम में मौजूद आदमी पार्टी (आप) के पूर्व नेता और लोकप्रिय कवि कुमार विश्वास को सपा में शामिल होने की भी मुलायम सिंह ने पेशकश कर दी। कुमार विश्वास अपने संबोधन के बाद जब अपने स्थान पर लौटे तो वयोवृद्ध समाजवादी नेता मुलायाम सिंह ने उनकी पीठ थपथपा कर उनके कान में कुछ कहा। वरिष्ठ सपा नेता उदय प्रताप सिंह ने मंच से अपने संबोधन में इसका खुलासा करते हुये बताया कि ‘'नेता जी मुझसे कह रहे थे अगर कुमार विश्वास कहीं किसी दल में नही हैं, तो सपा में उनका स्वागत है।”

इस अवसर पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी, आप के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह, राजद के मनोज झा और सपा के पूर्व सांसद जावेद अली खान सहित अन्य दलों के दिग्गज नेता मौजूद रहे। समारोह की अध्यक्षता कर रहे सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रो यादव की तारीफ करते हुए कहा कि, उनकी यह पुस्तक मौजूदा पीढ़ी ही नहीं भावी पीढ़ियों के लिये भी राजनीति मूल्यों की राह दिखाने वाली साबित होगी।

कुमार विश्वास ने भी मंच से अखिलेश यादव और मुलायम सिंह की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि '‘हम कवियों का अगर सबसे ज्यादा किसी ने ख्याल रखा है तो इन समाजवादी नेताओं ने।” वहीं पुस्तक के लेखक रामगोपाल यादव ने कहा कि संघर्ष के बिना सृजन नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा कि आज वह जो कुछ भी हैं वह नेता जी के कारण ही हैं।

From around the web