अलीगढ के अफसर के रिश्तेदार रहते थे नॉएडा में, लगवा दी फ्री वैक्सीन, हो गया मुकदमा दर्ज 

 
न

नोएडा। थाना बीटा टू क्षेत्र के जेपी ग्रींस हाउसिंग सोसायटी में 187 लोगों को अलीगढ़ की कोरोना वैक्सीन लगने के मामले में अब पुलिस द्वारा कार्रवाई की गई है। इस मामले में एसीएमओ की शिकायत पर पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। शुरुआती जांच में पता चला है कि अलीगढ़ स्वास्थ्य विभाग में सोसायटी के एक निवासी के रिश्तेदार है।

पुलिस के मुताबिक जेपी ग्रींस हाउसिंग सोसायटी में पिछले दिनों कई बार कोरोना वैक्सीनेशन कैंप लगाया गया था। कैंप में बिना अनुमति के 18 से 45 वर्ष तक के लोगों को वैक्सीन लगाई गई थी। लोगों ने बाकायदा  कोरोना चार्ज देकर डोज ली थी। लेकिन इसके बाद फिर एक और वैक्सीनेशन कैंप लगा जो बिल्कुल मुफ्त था। मुफ्त कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद लोगों को प्रमाण-पत्र दिया गया तो उसमें अलीगढ़ के नौरंगाबाद स्वास्थ्य केंद्र का नाम लिखा हुआ था। प्रमाण-पत्र पर अलीगढ़ टीका केन्द्र दिखाए जाने पर लोगों ने सवाल खड़े  कर दिए। जिसके बाद मामले की शिकायत स्वास्थ्य विभाग से की गई।

अलीगढ़ स्वास्थ्य केंद्र के कई अधिकारियों के रिश्तेदार रहते हैं सोसायटी में 

पुलिस जांच में पता चला है कि अलीगढ़  के एक अधिकारी के रिश्तेदार जेपी ग्रीन्स में रहते हैं। यहां रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन है। एक एसोसिएशन की ओर से फोर्टिस अस्पताल से वैक्सीन लगवाई गई थी। जिसका चार्ज था। अलीगढ़ स्वास्थ्य केंद्र में अधिकारियों के रिश्तेदार ने अपना वर्चस्व दिखाने के लिए बाकायदा मुफ्त कैंप लगवाया था। इस मामले में 300 से ज्यादा अधिकारी और रेजिडेंट के अलावा कर्मचारी भी घेरे में आ गए हैं। जेपी सोसायटी में रहने वाले रिटायर्ड आईएएस और भारत सरकार में पूर्व संयुक्त सचिव रहे शंकर अग्रवाल कहते हैं टीकाकरण को लेकर मंशा किसी की भी कुछ हो लेकिन यह कैसे संभव है कि अलीगढ़ की वैक्सीन बगैर किसी स्वास्थ्य विभाग की देखरेख में नोएडा के जेपी ग्रींस सोसाइटी में लगा दी जाए।

गौतमबुद्ध नगर के सीएमओ दीपक ओहरी ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा एक टीम गठित कर मामले की जांच कराई गई। जांच टीम ने सोसायटी में जाकर पड़ताल की और सोसायटी निवासियों से बात करने के बाद पुलिस से शिकायत की गई। उन्होंने बताया कि एसीएमओ डा नीरज त्यागी की शिकायत पर सोसायटी में वैक्सीन कैंप लगवाने वाले शुभ गौतम, अनिल गुप्ता, अजय कुमार, बीना सिंह व शुभी  समेत अज्ञात लोगों के खिलाफ थाना बीटा टू में मुकदमा दर्ज करवाया गया है। इस मामले में आगे की जांच अब पुलिस करेगी। 

From around the web