55 लाख रुपए देख बदल गई ड्राइवर की नीयत, भाई और दोस्त के साथ मिलकर रच डाली खौफनाक साजिश

 
1
नोएडा। जिले के ग्रेटर नोएडा के कोतवाली सूरजपुर क्षेत्र स्थित सेक्टर 143 में एक कार चालक से 55 लाख की लूट का खुलासा पुलिस ने कर दिया है। इस मामले में सूरजपुर पुलिस ने कार ड्राइवर और उसके भाई समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने तीनों आरोपी के पास से 55 लाख रुपये बरामद कर लिए है। पुलिस ने आरोपी के पास से लूट में इस्तेमाल की गई कार,अवैध तमंचा,दो चाकू,दो फर्जी आधार कार्ड भी बरामद किए हैं। तीनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।
सूरजपुर में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रेस के सामने पेश किए गये राजेश,अमित और रॉकी को पुलिस ने लूट की फर्जी कहानी गढ़ने के आरोप में गिरफ्तार किया है। नोएडा सेंट्रल ज़ोन-2 के डीसीपी हरीश चंद्र ने बताया कि वृंदा सिटी सोसाइटी निवासी विधु गुप्ता की साइट 5 में होलोग्राफिक एंड सिक्योरिटी के नाम से कंपनी है। उन्होंने अपने ड्राइवर राजेश को 55 लाख रुपए देकर दिल्ली के कनॉट प्लेस में एक कारोबारी के पास भेजा था। लेकिन जब राजेश आठ बजे तक नहीं लौटा तो उन्होंने उसे फोन किया राजेश ने फोन नहीं उठाया। तब उसके भाई अमित को उन्होंने फोन किया। अमित ने बताया कि राजेश के साथ लूट हो गई है और उसे लुटेरे एडवांट बिल्डिंग के पास एक नाले में बांधकर फेंक गए हैं। इसकी सूचना उन्होने पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर देखा कि राजेश बंधा हुआ पड़ा था। पूछताछ के दौरान राजेश ने बताया कि एक इको स्पोर्ट गाड़ी ने ओवरटेक कर बदमाशों ने उसे रोक लिया था और फिर हथियारों के बल पर बंधक बनाकर 55 लाख रुपये लूट लिए थे।
डीसीपी नोएडा सेंट्रल ने बताया लेकिन राजेश के बार-बार बयान बदलने पर पुलिस को उस पर शक हुआ और कडाई से पूछताछ की तो उसने बताया कि उसने यह साजिश अपने दोस्त की और भाई अमित के साथ मिलकर की थी। पुलिस ने सीसीटीवी की मदद से अमित को रकम ले जाते हुए की देखा। पुलिस ने आरोपियों के पास से लुटे हुए 55 लाख रुपये इको स्पोर्ट गाड़ी, तमंचा और चाकू और फर्जी आधार कार्ड बरामद किया है। एडिशनल सीपी लॉ एंड ऑर्डर लव कुमार ने इस मामले का शीघ्र खुलासा करने पर पुलिस टीम को 50 हज़ार का इनाम देने की घोषणा की है।

From around the web