बाइक बोट घोटाले में पैसा डूबने पर की गई थी सपा नेता के भाई की हत्या, तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार 

 
न

नोएडा। थाना दादरी पुलिस ने लुहारली गांव में सपा नेता महेश भाटी के भाई दिनेश भाटी हत्याकांड का खुलासा करते हुए तीन हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस का दावा है कि बाइक बोट घोटाले में पैसा डूबने पर दोस्त ने ही अपने दो साथियों के साथ मिलकर दिनेश भाटी की गोलियां बरसाकर हत्या की थी। 

ग्रेटर नोएडा जोन डीसीपी राजेश कुमार सिंह ने दिनेश भाटी हत्याकांड को अंजाम देने वाले तीन हत्यारोपियों को वीरवार को दादरी थाना क्षेत्र के नहर विभाग की पुरानी कोठी के पास गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों की पहचान सोनू निवासी गांव लुहारली, अमित निवासी सेक्टर 36 ग्रेटर नोएडा और दीपक निवासी ग्राम लुहारली गौतमबुद्धनगर के रूप में हुई है। अभी घटना में शामिल शूटर फरार चल रहा है। जल्द ही उसे भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

डीसीपी ने बताया कि पूछताछ करने पर आरोपी सोनू ने बताया कि तीन साल पहले दिनेश ने उससे बाइक बोट में 50 हजार रुपए लगवाए थे। दिनेश ने उससे कहा कि उसे हर महीने मुनाफा भी मिलेगा। लेकिन मुनाफा नहीं मिला। घटना से तीन चार दिन पहले सोनू दिनेश की नर्सरी पर पैसे और कुछ पौधे लेने पहुंचा। पैसे मांगने पर दिनेश ने उसे गाली गलौच करते हुए तमंचा दिखाया और जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद ही सोनू ने दिनेश को जान से मारने की योजना बना ली। 

इस तरह दिया था घटना को अंजाम 

सोनू ने अपने दो साथियों अमित और दीपक के साथ मिलकर 9 मई की शाम लुहारली गेट के पास दिनेश भाटी की गोली मारकर हत्या कर दी। डीसीपी ने बताया कि सोनू के खिलाफ 13 मुकदमे चल रहे हैं। जिनमें हत्या, हत्या का प्रयास आर्म्स एक्ट, गुंडा एक्ट और गैंगस्टर एक्ट के मुकदमे हैं। सोनू के खिलाफ दादरी, बुलंदशहर के सिकंदराबाद और कई दूसरे थानों में मुकदमे दर्ज हैं। दीपक के खिलाफ 10 मुकदमे दर्ज हैं। उस पर भी मारपीट, बलवा, हत्या का प्रयास,  आर्म्स एक्ट, गैंगस्टर एक्ट और गुंडा एक्ट के मुकदमे हैं। अमित के खिलाफ यह दूसरा मुकदमा दर्ज हुआ है। इससे पहले उस पर वर्ष 2019 में दादरी थाना में हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया गया था। डीसीपी ने बताया कि सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया है। 

From around the web