विश्व दृष्टि दिवसः अपनी आंखों से करें प्यार, उचित देखभाल से न करें इनकार

 
1
नोएडा। “लव योर आइज” यह अपील भी है, संदेश भी है और थीम भी है “विश्व दृष्टि दिवस 2021” की। जनपद में इसी थीम के साथ बृहस्पतिवार को विश्व दृष्टि दिवस मनाया गया। हर वर्ष अक्टूबर माह के दूसरे बृहस्पतिवार को आंखों की देखभाल के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए यह दिवस मनाया जाता है। जनपद में संयुक्त जिला चिकित्सालय, समस्त सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी के निर्देशन में विश्व दृष्टि दिवस मनाया गया।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. सुनील कुमार शर्मा ने बताया - विश्व दृष्टि दिवस हर साल अक्टूबर माह के दूसरे बृहस्पतिवार को मनाया जाता है। यह पहली बार लायंस क्लब इंटरनेशनल फाउंडेशन द्वारा वर्ष 2000 में दृष्टि प्रथम अभियान के तहत शुरू किया गया था। इस दिन को दृष्टि हानि, अंधापन और अन्य दृष्टि संबंधी समस्याओं के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए मनाया जाता है। उन्होंने बताया - बृहस्पतिवार को जनपद में जनमानस को अपनी आंखों की देखभाल के प्रति जागरूक किया गया। इस अवसर पर संयुक्त जिला चिकित्सालय, समस्त सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर लोगों की आंखों के परीक्षण किये गये साथ ही आंखों से संबंधित अन्य चिकित्सकीय लाभ दिये गये।
गैर संचारी रोग नियंत्रण (एनसीडी) कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डा. ललित कुमार ने कहा - आंखों की छोटी सी समस्या की भी अनदेखी नहीं करनी चाहिए, क्योंकि यही छोटी समस्या कई बार बड़ी समस्या बन जाती है। उन्होंने आंखों की देखभाल के लिए कुछ सुझाव भी दिये। उन्होंने कहा - किसी भी खतरनाक कार्य को करते हुए सुरक्षा चश्मा जरूर पहनना चाहिए। आंखों के लिए धूम्रपान बहुत हानिकारक है। इसमें ऑप्टिक तंत्रिका क्षति, मोतियाबिंद जैसी बीमारियों का ख़तरा रहता है।  कंप्यूटर पर काम करते समय प्रत्येक 20 मिनट के बाद अपनी आंखों को 20 सेकेंड का आराम दें। अपनी आंखों की नियमित रूप से जांच करायें। पर्याप्त स्वच्छता बनाए रखें और हाथों को ठीक से धुलने  के बाद ही आंखों को छुएं। नियमित रूप से व्यायाम शारीरिक गतिविधि के साथ ही आंखों को स्वस्थ बनाता है। किसी भी प्रकार की आंखों के संक्रमण के लिए नेत्र रोग विशेषज्ञ की सलाह लेकर ही दवा का इस्तेमाल करें। चालीस वर्ष से अधिक आयु के लोगों में मधुमेह की जांच के लिए रक्त शर्करा का परीक्षण नियमित रूप से और डाइबिटिक रेटिनोपैथी की आशंका होने पर फंगस का परीक्षण करवाना चाहिए।
स्वस्थ आँखों के लिए कुछ सुझाव
सूरज की हानिकारक पराबैंगनी किरणों से अपनी आंखों की सुरक्षा के लिए बाहर जाने के दौरान हमेशा धूप का चश्मा पहनना चाहिए। आहार में अधिक से अधिक हरी सब्जियों को शामिल करें। कम रोशनी में पढ़ने से बचें।

From around the web