कोरोना संक्रमण के प्रति गंभीर नहीं लोग, 68 फीसदी लोगों ने नहीं लगवाया वैक्सीन का दूसरा टीका

 
1
हापुड़। कोरोना टीकाकरण अभियान को लेकर जिले के लोग गंभीर नहीं है। यहीं कारण है कि अब तक जिले में कोरोना की दूसरी वैक्सीन लगवाने के प्रति 68 प्रतिशत लोग लापरवाह बने हुए हैं। कोरोना का दूसरा टीका लगवाने में लोग पीछे हट रहे हैं। दूसरा टीका लगवाने के लिए लगाए गए बूथों से लोगों ने दूरी बनाई है। जिले में अभी केवल 32 फीसदी लोगों ने ही दूसरा टीका लगवाया है। जबकि 68 फीसदी ऐसे हैं जो टीका लगवाने में लापरवाही बरत रहे हैं। जबकि स्वास्थ्य विभाग लगातार टीका लगवाने के लिए लोगों को जागरूक कर रहा है। टीका लगवाने के लिए स्वास्थ्य कर्मी लोगों का इंतजार करते रहे लेकिन बूथों पर भीड़ ही नहीं दिखाई दी।
कोठीगेट स्थित पीपीसी अस्पताल में जहां रोजाना टीकाकरण कराने वालों की भीड़ लगी रहती थी। डाटा फिडिंग करने के लिए बैठी टीम लोगों के आने का इंतजार करती रही लेकिन यहां पर कोई टीकाकरण के लिए नहीं पहुंचा। अस्पताल का टीकाकरण केंद्र खाली पड़ा था। यहां टीका लगाने वाले स्वास्थ्य कर्मी तो मौजूद थे, लेकिन लगवाने वाला कोई नहीं था। जबकि सामान्य दिनों में यहां लाइन लगी रहती थी। दूसरा टीका लगवाने वालों में उत्साह कम ही दिख रहा था।
अस्पताल में कोवैक्सीन का टीका लगवाने वालों के लिए अलग बूथ बनाया गया है। लेकिन यहां टीम का कोई कर्मचारी ही मौजूद नहीं था, जबकि वैक्सीन का बॉक्स रखा हुआ था। इस अस्पताल में बंदरों का आतंक अधिक है, जो वैक्सीन लेकर भाग भी सकते थे। लेकिन इन्हें देखने वाला यहां कोई नहीं था। कुछ ऐसा ही हाल सीएचसी  गढ रोड का भी है। वहां पर भी लोग टीकाकरण के लिए पहुंच रहे थे। लेकिन इनकी संख्या काफी कम थी, केंद्र पर मुश्किल से आठ लोग ही होंगे, दूसरा टीका लगवाने वालों में यहां भी कम उत्साह देखने को मिला।
स्वास्थ्य विभाग कर रहा जागरूक।
जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा0 संजीव कुमार ने बताया कि दूसरा टीका लगवाने के लिए गांवों में घर-घर जाकर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। साथ ही टीम द्वारा फोन कर लोगों से दूसरा डोज लगवाने की अपील कर रही है। दोनों टीके लगने पर ही कोरोना से बचा जा सकता है। पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन है, जल्द से जल्द टीकाकरण कराएं।  
ये है जिले में टीकाकरण की स्थिति।
कुल टीकाकरण-----814992
पहला डोज------615990
दूसरा डोज------199002

From around the web