प्रियंका ने कार्यकर्ताओं से किया संवाद, कहा- अपराधियों की गिरफ्तारी तक नहीं रुकेगा संघर्ष

 
न
सीतापुर, । लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर किसानों को  इंसाफ दिलाने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ता लगातार आवाज बुलंद किए हुए हैं। वहीं पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को लखीमपुर खीरी जाने से रोकते हुए यूपी पुलिस ने उन्हें सीतापुर में गेस्टहाउस में नजरबंद कर रखा है। इसके बावजूद मंगलवार शाम प्रियंका गांधी ने फोन पर कार्यकर्ताओं से संवाद किया और कहा कि जब तक अपराधियोंं की गिरफ्तारी नहीं हो जाती हमारा संंघर्ष जारी रहेगा।

लखीमपुर खीरी पीड़ित किसानों के परिवार से मिलने के लिए जाने वाली प्रियंका गांधी को रोके जाने के बाद से पिछले 45 घंटे से वो नजरबंद हैं। ऐसे में उनकी रिहाई की मांग को लेकर पार्टी कार्यकर्ता गेस्ट हाउस के बाहर धरना दे रहे हैं। इस बीच कार्यकर्ताओं को फोन से संबोधित करते हुए कहा कि आप सब दिन रात संघर्ष कर रहे हैं किसानों के प्रति आपकी सहानुभूति व समर्थन है। क्योंकि इस देश की धरती को किसानों ने खून से सींचा है। हालांकि पहले जूम ऐप के जरिए प्रियंका का कार्यकर्ताओं से संवाद होना था लेकिन यह संभव नहीं होने पर फोन से संबोधन हुआ।

कार्यकर्ताओं में ऊर्जा भरते हुए कांग्रेस महासचिव ने कहा कि इस देश को किसानों ने ही आजादी दिलाई। आज किसान का बेटा ही देश की सीमा पर जवान बनकर हमारी-आपकी रक्षा कर रहे हैं। उन्होंने कहा किसान जब संघर्ष और आंदोलन में अपनी जान गवां देता है तो उसे मृतक नहीं बल्कि शहीद कहा जाता है।

वहीं केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए प्रियंका ने कहा कि आज कायरों की सरकार है। मंत्री का बेटा जनता पर अपनी गाड़ी चढ़ा रहा है परंतु यह सरकार व पुलिस अपराधियों को पकड़ने के बजाय विपक्ष की महिला को रोकने में पूरी ताकत लगा रही है। उन्होंने सवाल भरे लहजे में पूछा कि जब हादसा हुआ तो पुलिस कहां थी? सरकार व प्रशासन कहां था? प्रधानमंत्री मोदी को नैतिकता की याद दिलाते हुए उन्होंने पूछा कि आज नैतिकता कहीं नहीं दिख रही है? संस्कृत के एक श्लोक के माध्यम से उन्होंने प्रधानमंत्री को याद दिलाते हुए कहा कि जनता की रक्षा सबसे बड़ा धर्म है, जीवो के प्रति रक्षा व करुणा राजा का भी सबसे बड़ा धर्म होता है। आज दुर्भाग्य है कि सरकार का गृह राज्य मंत्री जनता को धमका रहा है और उसका बेटा जनता पर गाड़ी चढ़ाकर कुचल रहा है। उन्होंने कहा कि मोदी जी आज लखनऊ आए थे लेकिन पीड़ित के आंसू पहुंचने लखीमपुर नहीं आए।

प्रियंका वाड्रा ने पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि जितना दबाया जाएगा उतनी ही शक्ति से मैं आवाज उठाती रहूंगी। उन्होंने कहा हम यह संघर्ष तब तक नहीं बंद करेंगे जब तक मंत्री का इस्तीफा तथा उसका अपराधी बेटा गिरफ्तार नहीं हो जाता। उन्होंने सभी कांग्रेसी जनों का आह्वान करते हुए कहा कि मिलकर लड़ाई जारी रखें। यहां से निकलते ही आप सब से भेंट करूंगी। प्रियंका ने अपना संबोधन जय जवान जय किसान के नारे के साथ समाप्त किया।


 

From around the web