यूपी में कोरोना के प्रकोप के लिए राहुल और अखिलेश जिम्मेदार - सुरेश खन्ना 

 
न
लखनऊ, -उत्तर प्रदेश सरकार के कबीना मंत्री सुरेश खन्ना ने समाजवादी पार्टी (सपा) और कांग्रेस पर ओछी राजनीति के लिए प्रदेश में वैक्सीनेशन अभियान की गति को प्रभावित करने का आरोप लगाया है।
उन्होने मंगलवार को जारी बयान में कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव जैसे गैर ज़िम्मेदार लोगों के कारण उत्तर प्रदेश में कोरोना ने ख़तरनाक रूप ले लिया। कांग्रेस और सपा के नेताओं ने वैक्सीन पर भ्रम फैला कर वैक्सीन अभियान को धीमा कर दिया जिसका ख़ामियाज़ा लोगों को भुगतना पड़ रहा है।
श्री खन्ना ने श्री राहुल गांधी, श्रीमती प्रियंका वाड्रा और श्री अखिलेश यादव से संकट की इस घड़ी में ओछी राजनैतिक बयानबाजी से बाज आने को कहा है। उनका कहना है कि कोरोना वैक्सीन पर इन दोनों रजनैतिक दलों के नेताओं ने भ्रम फैला कर उत्तर प्रदेश के लाखों लोगों की जान को खतरे में डालने के काम किया है। इन नेताओं की ओर से बार बार कोरोना वैक्सीन और सरकार की ओर से किये जा रहे अन्य प्रयासों पर सवाल उठाकर जनता में भ्रम पैदा किया जा रहा था।
उन्होंने कहा कि श्री अखिलेश यादव ने वैक्सीन पर सवाल खड़े करते हुए इसे लगवाने से इनकार कर दिया था। राहुल और प्रियंका वाड्रा ने तो वैक्सीन के टेस्ट पर ही  अविश्वास जताया था। अब ये लोग ही कह रहे हैं कि सबको वैक्सीन क्यों नहीं लगाई गई। मुश्किल वक्त में इन नेताओं को अवसरवादी और ओछी राजनीति नहीं करनी चाहिए। कोरोना से लोगों को बचाने के सीएम योगी के अभियान में सहयोग करना चाहिए। जनता सब देख रही है इस बार और कड़ा जवाब देगी।
उन्होंने इन नेताओं को सरलता, सहजता और संवदेनशीलता का परिचय देते हुए वर्तमान सरकार के साथ कोरोना के खिलाफ शुरू हुई लड़ाई में राजनीति छोड़कर सहयोग करने की अपील की है।
चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने कहा कि घर पर बैठकर प्रदेश में कोरोना वायरस के खात्मे को खिलाफ चल रहे प्रयासों के खिलाफ झूठी बयानबाजी करना शोभा नहीं देता है। उनकी झूठी बयानबाजी से जनमानस में भ्रम फैल रहा है। गलत बयानबाजियों के कारण उत्तर प्रदेश में वैक्सीन लगवाने वाले लोगों की रफ्तार में कमी आई थी। उन्होने कहा कि लोकतंत्र में विपक्ष का काम सिर्फ सरकार की आलोचना करने का ही नहीं होता है।

From around the web