चीनी मिलें गन्ना किसानों को ब्याज का तत्काल भुगतान करें : भगत सिंह वर्मा

 
1
देवबंद। गन्ना समिति में सामान्य निकाय की बैठक को संबोधित करते हुए पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा ने कहां की भाजपा की प्रदेश सरकार गन्ने का लाभकारी रेट ₹600 कुंतल तत्काल घोषित करें और चीनी मिलें बकाया गन्ना भुगतान तुरंत गन्ना किसानों को दिलाएं। भगत सिंह वर्मा ने कहा कि पिछले वर्षों में देरी से किए गए गन्ना भुगतान पर लगा ब्याज देवबंद चीनी मिल पर ₹70 करोड़ ब्याज बकाया है और बजाज चीनी मिल गांगनौली पर 170 करोड रुपए गन्ना भुगतान व 125 करोड रुपए ब्याज बकाया है। भगत सिंह वर्मा ने कहा कि शुगर कंट्रोल ऑर्डर 1966 के अनुसार जो चीनी मिले 14 दिन के अंदर गन्ना किसानों को भुगतान नहीं करती हैं उन्हें 15% वार्षिक दर से गन्ना किसानों को ब्याज का भुगतान करना चाहिए और वह चीनी मिल गन्ना किसानों से ढुलाई किराया भी नहीं काट सकती हैं। लेकिन चीनी मिल मालिक सरकारों के नियमों को ताक पर रखकर गन्ना किसानों का लगातार शोषण कर रहे हैं। जिसके लिए प्रदेश और केंद्र सरकार सीधे जिम्मेदार हैं। भगत सिंह वर्मा ने कहा कि इस वर्ष गन्ने की लागत ₹440 कुंतल आई है। हरित क्रांति के जनक महान कृषि वैज्ञानिक डॉक्टर एम एस स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट के अनुसार गन्ना किसानों को 50% लाभ मिलना चाहिए इस हिसाब से गन्ने का रेट ₹660 कुंतल होना चाहिए। आज गन्ना किसान भारी आर्थिक संकट से गुजर रहे हैं। भगत सिंह वर्मा ने गन्ने का लाभकारी रेट ₹600 कुंतल कराने चीनी मिलों से गन्ना भुगतान व ब्याज तत्काल दिलाने चीनी मिलों से गन्ना ढुलाई पर किराया न काटने चीनी मिलों में एक कुंतल गन्ने से एक किलोग्राम कटौती न काटने किसानों को अपने खेतों में खाद के रूप में डालने के लिए चीनी मिलों से नि:शुल्क प्रेसमढ दिलाने मनरेगा योजना को सीधा खेती से जोड़कर गन्ना किसानों को मनरेगा योजना के तहत मजदूर  उपलब्ध कराने गन्ना किसानों को₹50 लीटर डीजल उपलब्ध कराने रणखंडी फाटक से चीनी मिल के सामने को होते हुए साईं धाम हाईवे तक चीनी मिल देवबंद द्वारा सड़क का निर्माण कराने के प्रस्ताव सामान्य निकाय की बैठक में सर्वसम्मति से पास कराए। भगत सिंह वर्मा ने कहा कि इस बार गन्ने का लाभकारी रेट ₹600 कुंतल कराने गन्ना भुगतान व ब्याज लेने के लिए गन्ना किसान सड़क से लेकर संसद तक लड़ाई लड़ेंगे। जिसके लिए पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के नेतृत्व में गन्ना किसान 15 सितंबर दिन बुधवार समय 11बजे गन्ना समिति देवबंद पर हुंकार भरेंगे।

From around the web