सहारनपुर में 49 जिला पंचायत सदस्यों के सिर सजा ताज, सभी दलों की दिखी ताकत, अब अध्यक्ष पद की चर्चा हुई शुरू  

 
न

सहारनपुर- उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में जिला पंचायत चुनाव की मतगणना आज समाप्त हो गई और सभी दलों के 49 प्रत्याशी निर्वाचित हुए हैं।
सहारनपुर जिला पंचायत के 49 वार्डों की रविवार प्रातः आठ बजे शुरू हुई मतगणना मंगलवार दोपहर तीन बजे तक चली और सभी दलीय नेताओं ने मतदान और मतगणना दोनों में प्रशासन द्वारा बरती गई निष्पक्षता,पारदर्शिता और ईमानदारी की सराहना की।
पंचायत नतीजों में सपा,बसपा और भाजपा के साथ-साथ कांग्रेस नेता इमरान मसूद का वर्चस्व साफ दिखा। सपा जिलाध्यक्ष चौधरी रूद्रसैन भी अपने समर्थकों को जिताने में सफल रहे। भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेेखर की नवगठित पार्टी आसपा के भी दो उम्मीदवार जीते है। राजनीतिक दलों की कशमश के बीच एक निर्दलीय उम्मीदवार निवासी गांव शेखपुरा कदीम जगमाल 11 हजार वोट लेकर विजयी हुए है। उन्होंने बसपा के राजपाल को 2382 मतों के अंतर से हराया।
बसपा के लिए प्रतिष्ठा का मुकाबला बने वार्ड 41 में बसपा महिला नेत्री ममता चौधरी ने जीत दर्ज की। उन्हें 74 बूथों वाले इस  मुकाबले में 10 हजार 657 मत मिले। उन्होंने भाजपा की गीता देवी को तीन हजार 901 मतों से पराजित किया। आसपा की संगीता चार हजार वोट लेने में सफल रही। बसपा के देवबंद विधानसभा प्रभारी नवीन खटाना की मां शिमला देवी वार्ड-19 में 2425 मतों से विजयी घोषित की गई।
भाजपा नेता और जिला पंचायत अध्यक्ष पद के दावेदारों में शामिल मुकेश चौधरी  और मांगेराम चौधरी  आसानी से चुनाव जीत गए। मांगेराम ने बसपा समर्थित अरविंद कुमार को 399 मतों से पराजित किया और वार्ड 43 में मुकेश चौधरी  ने 52 सौ वोटो के अंतर से कांग्रेस उम्मीदवार को पराजित किया।
सपा  द्वारा घोषित उम्मीदवार सलीम अख्तर को वार्ड 24 में स्थानीय सपा नेता चौधरी इद्रसैन समर्थक उम्मीदवार जीशान चौधरी एडवोकेट के हाथों पराजय झेलनी पडी। सलीम अख्तर का समर्थन कैराना सपा विधायक चौधरी नाहिद हसन भी कर रहे थे। जीशान चौधरी की जीत का अंतर 56 सौ वोट रहा। वार्ड 25 में सपा समर्थित चौधरी  सत्य कुमार जीते। वार्ड 23 में कांग्रेस समर्थित मुकर्रम राव जीते। वार्ड 20 में कांग्रेस के सुशील कम्हेडा जीते। वार्ड 22 पर कांग्रेस समर्थित नरेंद्र चौधरी एडवोकेट जीते। वार्ड-40 में बसपा समर्थित इमरान मलिक ने 7767 वोट लेकर भाजपा समर्थित उम्मीदवार को 1955 मतों से हराया।
वार्ड 26 में बीएसपी समर्थक चौधरी वैसर अली जीते। वार्ड 45 में चंद्रशेखर की पार्टी के उम्मीदवार रकम सिंह ने कांग्रेस समर्थित उम्मीदवार भूरा को 850 मतों से पराजित किया। वार्ड नंबर एक से भाजपा समर्थित मुकेश चौहान, वार्ड नंबर दो से भाजपा के ही दुबे सिंह कांबोज, वार्ड नंबर 21 से भाजपा समर्थित सविता देवी, वार्ड नंबर 29 से भाजपा समर्थित अनुसूचित जाति के विनोद कुमार, वार्ड नंबर 30 में भाजपा समर्थित नीलम देवी निवासी रणखंडी विजयी रही। नीलम देवी पुंडीर को देवबंद भाजपा विधायक ब्रिजेश रावत का समर्थन था। जबकि उनके गांव निवासी जडौदाजट्ट और उन्हीं के खानदान के चौधरी चंद्रपाल सिंह की पत्नी पुष्पा देवी 450 मतों के अंतर से कांटेदार मुकाबले में चुनाव हारी है। वार्ड नंबर 32 से बसपा नेता माजिद अली भाजपा समर्थित उम्मीदवार को हराकर जीते है। पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष गायत्री चौधरी पत्नी मनोज चौधरी पूर्व विधायक वार्ड 35 से चुन ली गई है। वह भाजपा समर्थित उम्मीदवार थी। वह भी जिला पंचायत अध्यक्ष की दावेदार हो सकती है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और भाजपा के प्रांतीय महामंत्री संगठन सुनील बंसल सहारनपुर जनपद के प्रमुख पार्टी नेताओं से विचार-विमर्श कर जीतने वाले उम्मीदवार की जल्द घोषणा कर सकते है। भाजपा में जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए बिजेंद्र कश्यप, मुकेश चौधरी, गायत्री चौधरी और मांगेराम चौधरी प्रमुख दावेदारों में शामिल है। वर्ष 1991 में तत्कालीन मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने सहारनपुर के गुर्जर नेता चौधरी नकली सिंह को जिला पंचायत अध्यक्ष मनोनीत किया था। बाद में चौधरी नकली सिंह वर्ष 1996-98 में सहारनपुर से भाजपा के लोकसभा सदस्य भी चुने गए थे। इसके अलावा कभी भी जिले में भाजपा का जिला पंचायत अध्यक्ष नहीं रहा। वर्तमान में भाजपा नेत्री गायत्री चौधरी पूर्व में बसपा की ओर से जिला पंचायत अध्यक्ष रह चुकी है। ध्यान रहे सहारनपुर जिला पंचायत अध्यक्ष पद पिछडा वर्ग के लिए आरक्षित है।    

From around the web