जनहित के विकास कार्यक्रमों की योजनाओं में किसी भी स्तर से भेदभाव न हो : सभापति विधायी समाधिकार समिति

 
1
सहारनपुर। उत्तर प्रदेश विधान परिषद की विधायी समाधिकार समिति के सभापति राजपाल कश्यप ने कहा कि कार्यपालिका एवं विधायिका आपस में बेहतर सामंजस्य स्थापित कर अधिक से अधिक जनहित के कार्य करें। उन्होने कहा कि जनहित की योजनाओं में किसी भी स्तर से भेदभाव न किया जाए। उन्होने निर्देश दिए कि सभी अधिकारी अपने मोबाइल में जनप्रतिनिधियों का नम्बर सेव करें और जनप्रतिनिधियों का फोन उठाएं। यदि किसी कारण से फोन न उठा पाएं तो समय मिलते ही कॉल बैक करें। जनप्रतिनिधियों की अनदेखी किसी भी स्तर पर बर्दाश्त नहीं होगी चाहे वह किसी भी दल से हों। उन्होंने कहा कि संवैधानिक संस्थाओं एवं पदों की गरिमा बनाए रखने का सभी का दायित्व है। किसी भी स्थिति में संवैधानिक संस्थाओं की गरिमा को गिरने नहीं दिया जायेंगा। उन्होंने मण्डल में वर्ष 201-.20 व 2020-21 में सदस्य विधान परिषद की विधानमण्डल क्षेत्र विकास निधि एवं संस्तुति से लगे  हैण्डपम्पों की भी समीक्षा करते हुए कार्यस्थल का निरीक्षण करने के निर्देश दिए। राजपाल कश्यप आज यहां सर्किट हाउस सभागार में मण्डल में वर्ष 2019-20 एवं 2020-21 में सदस्य विधान परिषद एवं विधान सभा से प्राप्त हुए प्रस्तावों पर कार्यवाही की समीक्षा के दौरान यह निर्देश दिए। उन्होंने निर्देश दिए कि विधान परिषद के सदस्यों से प्रस्ताव प्राप्त कर समय से शासन को भेजा जाए। स्वीकृत प्रस्तावों में समय से बजट की मांग कर कार्यों को गुणवत्तापूर्ण तथा समयबद्ध ढंग से पूर्ण किया जाए। उन्होंने कहा कि जनता के हितों को ध्यान में रखते हुए अच्छे से अच्छे कार्य किए जाएं। उन्होंने निर्देश दिए कि अधिकारी अपने नैतिक दायित्वों का भली प्रकार से निर्वहन करें। उन्होंने कहा कि एम्बुलेंस नम्बर 102 एवं पुलिस नम्बर 112 का संचालन निरंतर भली प्रकार से किया जाए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि स्वास्थ्य विभाग यह सुनिश्चित करें कि प्राइवेट अस्पतालों के द्वारा मरीजों का शोषण न किया जाए। ईलाज के नाम पर गरीब मरीजों से  अनावश्यक पैसा न वसूला जाए। विधायी समाधिकार समिति के सभापति ने लोक निर्माण विभाग द्वारा की गयी कार्यवाही के संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिए कि बिना भेदभाव के जनप्रतिनिधि चाहे किसी भी दल का हो उनके प्रस्ताव प्राप्त करते हुए आगे भेजने की प्रक्रिया सुनिश्चित करें। पर्यटन विभाग द्वारा प्राप्त प्रस्तावों पर जानकारी प्राप्त की गई जिसमें जनपदों के अधिकारियों द्वारा सभापति को अवगत कराया गया कि प्रत्येक विधानसभा में 50 लाख की लागत से एक पर्यटन स्थल बनाया जायेगा।  राजपाल कश्यप ने कहा कि किसान देश की रीढ की हड्डी है। किसानों ने ही आपदा के समय में देश व देश की अर्थव्यवस्था को मजबूती दी है। किसानों के हित में अधिक से अधिक कार्य किए जाएं। किसानों की अनदेखी करने वालों के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी। किसानों को बेहतर से बेहतर सुविधा देकर देश व प्रदेश को विकास के पथ पर आगे बढाया जा सकता है। कृषि विभाग किसानों के हित में चलायी जा रही योजनाओं का अधिक से अधिक प्रचार प्रसार कर किसानों को लाभ दिलाना सुनिश्चित करें। उन्होंने किसानों के गन्ना बकाया के भुगतान के भी निर्देश दिए। समिति ने ऊर्जा, ग्राम्य विकास, सिंचाई, कृषि, सहकारिता आदि विभागों के कार्यों की भी जानकारी प्राप्त की। बैठक में विधायी समाधिकार समिति के सदस्य लाल बिहारी यादव, समिति के अधिकारी  राकेश कुमार पाण्डेय, विधायक सहारनपुर संजय गर्ग, जिलाधिकारी अखिलेश सिंह, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ0 एस0 चन्नप्पा, मुख्य विकास अधिकारी सहारनपुर विजय कुमार, मुजफ्फरनगर आलोक यादव, शामली  शंभूनाथ तिवारी तथा विभिन्न विभागों के मण्डल और जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

From around the web