मातृभूमि के वीरों का सम्मान भी समाजवादी पार्टी के मुखिया को लगता है ढोंग : स्वतंत्र देव

 
1

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने मंगलवार को विपक्षी दलों पर करारा प्रहार करते हुए कहा कि मातृभूमि के वीरों का सम्मान और उनकी स्मृति में बनाए जा रहे संस्थान भी समाजवादी पार्टी के मुखिया को ढोंग लगते हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार द्वारा अलीगढ़ में जाट सम्राट राजा महेन्द्र प्रताप सिंह के सम्मान में बनाए जाने वाला विश्वविद्यालय अगर अखिलेश को ढोंग लगता तो यह उनकी संकीर्ण मानसिकता का परिचायक है।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने सपा प्रमुख से सवाल किया कि वह खुद बताएं कि अपने शासन काल में उन्होंने इस तरह का ढ़ोग कब किया था ? असलियत यह है कि सपा के शासन काल में देश के इतिहास में दर्ज महापुरूषों की यादगार को चिर स्थायी बनाने का कोई भी प्रयास नहीं किया गया। इसलिए अब जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार और प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार प्रदेश में महापुरूषों के नाम पर बडे़-बडे़ संस्थान आदि का निर्माण कर रही है तो विपक्ष को यह रास नहीं आ रहा है।

स्वतंत्र देव ने कहा कि जाति और संप्रदाय की राजनीति करने वाले देश के स्वर्णिम इतिहास के बारे में कुछ नहीं जानते। उन्हें सिर्फ और सिर्फ अपने वोट बैंक की चिंता रहती है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि विपक्षी दलों को सरकारी बुलडोजर के नाम से डर क्यों लगने लगा है ? उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है विपक्षी दलों की सरकारों में जिन लोगों ने अबैध कब्जों को बढ़ावा दिया, उन्हें अब तकलीफ हो रही है। आगे कहा कि सपा सरकारों में जिस तरह माफिया व अपराधियों को संरक्षण दिया गया उसी का नतीजा है कि उत्तर प्रदेश में जंगलराज कायम था, जिसको खत्म करने का काम योगी सरकार द्वारा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इसीलिए प्रदेेश में अपराधियों और माफियाओं द्वारा किये गए अवैध कब्जों पर बुलडोजर चलेगा तो सबसे ज्यादा टीस संरक्षकों को ही होगी।

From around the web