लखनऊ एयरपोर्ट पर यात्रियों की सुरक्षा जांच के लिए जल्द लगेंगे बॉडी स्कैनर

 
न

लखनऊ, । राजधानी लखनऊ के चौधरी चरण सिंह अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर जल्द ही बॉडी स्कैनर लगाए जाएंगे। इससे यात्रियों का समय बचेगा और जांच के लिए अनावश्यक सुरक्षा कर्मियों को भी नहीं लगाना पड़ेगा। 

एयरपोर्ट प्रशासन के मुताबिक, लखनऊ के चौधरी चरण सिंह अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर जल्द ही बॉडी स्कैनर लगाए जाएंगे। इसके लिए तैयारियां तेजी से चल रही हैं। बॉडी स्कैनर लगने के बाद यात्रियों को एक कॉरिडोर से गुजरना होगा। दूसरी तरफ मॉनिटर के सामने बैठे सुरक्षा कर्मियों को हर यात्री की छवि दिख जाएगी। स्कैनर में यह भी दिख जाएगा कि यात्रियों के पास कोई आपत्तिजनक सामान तो नहीं हैं। इससे यात्रियों की जांच में लगने वाला समय बचेगा और अनावश्यक सुरक्षा कर्मियों की ड्यूटी भी नहीं लगानी पड़ेगी। 

एयरपोर्ट अथॉरिटी के अनुसार, दिल्ली एयरपोर्ट पर पिछले वर्ष दिसम्बर में बॉडी स्कैनर का ट्रायल हो चुका है। इसके बाद से अलग-अलग कम्पनियों के स्कैनर लगाकर उनका परीक्षण किया जा रहा है। परीक्षण पूरा होने के बाद इसे चालू कर दिया जाएगा। केन्द्र सरकार ने वर्ष 2019 में करीब 28 अति संवेदनशील और 56 संवेदनशील श्रेणी में रखे गए हवाई अड्डों पर बॉडी स्कैनर लगाने का निर्देश दिया था। यह निर्देश नागर विमानन सुरक्षा ब्यूरो की संस्तुति पर दिया गया था। बॉडी स्कैनर मार्च 2020 तक लगाने का लक्ष्य रखा गया था, लेकिन कोविड संक्रमण की वजह से लग नहीं पाया। अब आतंकी चुनौतियों को देखते हुए लखनऊ एयरपोर्ट को सुरक्षित बनाया जा रहा है। 

लखनऊ मेट्रो के छह स्टेशनों पर लगेंगी कियॉस्क मशीनें

उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड (यूपीएमआरसीएल) ने यात्रियों की सुविधा के लिए वॉव टैक्सी के साथ करार किया है। अब यात्रियों की सुविधा के लिए लखनऊ मेट्रो के छह स्टेशनों पर कियॉस्क मशीनें लगाई जाएंगी। इससे यात्री 20 प्रतिशत छूट पर वॉव टैक्सी बुक कर सकेंगे।

यूपीएमआरसीएल के मुताबिक, यात्रियों की सुविधा के लिए वॉव टैक्सी के साथ करार किया गया है। लखनऊ मेट्रो के यात्री अब मेट्रो स्टेशनों से वॉव टैक्सी बुक कर हर यात्रा पर 20 प्रतिशत तक छूट पा सकते हैं। यूपी मेट्रो के साथ हुए समझौते के तहत वॉव टैक्सी लखनऊ मेट्रो के छह मेट्रो स्टेशनों, हज़रतगंज, सीसीएस एयरपोर्ट, चारबाग़, आलगबाग़ बस स्टैण्ड, भूतनाथ और विश्वविद्यालय मेट्रो स्टेशनों पर कियॉस्क मशीनें लगाएगी। यह बाकी टैक्सी बुकिंग ऐप्स की तुलना में 15 से 20 प्रतिशत तक सस्ता होगा। मेट्रो स्टेशनों से गंतव्य तक पहुंचने के लिए यात्री वॉव टैक्सी ऐप का भी इस्तेमाल कर सकेंगे। 
 

From around the web