वाराणसी में आशिकी वाले पाण्डे जी के यहां आयकर ने मारा छापा,करोडो का घोटाला मिला 

 
न
नई दिल्ली| आयकर विभाग के अधिकारियों की एक टीम ने टैक्स चोरी के आरोप में वाराणसी के तंबाकू व्यवसायी लक्ष्मीकांत पांडे के घर पर छापेमारी की। पांडे को 'पम्मी' के नाम से भी जाना जाता है। वह गुटखा के आशिकी ब्रांड के मालिक हैं और वाराणसी में अपना कार्यालय चलाते हैं, जहां शुक्रवार रात को छापेमारी शुरू हुई थी।

ब्रांड पश्चिमी उत्तर प्रदेश में प्रसिद्ध है और पांडे लखनऊ, जौनपुर और प्रतापगढ़ में अपने उत्पादों की आपूर्ति करते हैं। आईटी अधिकारियों ने कहा कि उन्हें सूचना मिली थी कि महामारी में कंपनी टैक्स चोरी के आरोप में शामिल हैं।

इस मामले में उच्चाधिकारियों से चर्चा के बाद छापेमारी के लिए विभाग के अधिकारियों की एक टीम गठित की गई थी।

टीम ने कथित तौर पर पाया कि पांडे एक निजी स्कूल भी चला रहे थे। उन्होंने निजी स्कूल की फ्रेंचाइजी ली थी जिसे  उन्होंने कथित तौर पर अपनी आईटी फाइलिंग में नहीं दिखाया था।

छापेमारी के दौरान अधिकारियों ने वहां सभी कर्मचारी को फोन बंद करने को कहा और बाहर नहीं जाने को बोला।

आईटी टीम ने लैपटॉप, कंप्यूटर हार्ड डिस्क, रियल एस्टेट पेपर, खाता बही, बैंक खातों का विवरण, पासबुक और लेनदेन, बैंक लॉकर से संबंधित कागज और अन्य संपत्ति के दस्तावेजों की जांच की।

आईटी टीम ने उनके घर और फैक्ट्री में रखे कच्चे माल की भी जांच की, जबकि यह पता लगाने की कोशिश की गई कि क्या कच्चे माल की खरीद का कागज वस्तुओं से मेल खाता है या नहीं।

टीम ने पाया कि पांडे प्रेमचंद नगर, गोइथवा गांव, नखी घाट और सोइपुर में अपनी कई फैक्ट्रियां चला रहा था। आईटी अधिकारियों ने दावा किया है कि उन्होंने कुछ आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद किए हैं।

टीम, पांडे के चार्टर्ड एकाउंटेंट से अन्य व्यापारियों के साथ उसके व्यवहार के बारे में पूछताछ कर सकती है और उनके लेनदेन के बारे में पता लगाएगी।
 

From around the web