वाराणसी मुठभेड़ में मुन्ना बजरंगी गिरोह का एक लाख का इनामी शार्प शूटर ढेर

 
न

वाराणसी,- उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने मुन्ना बजरंगी गिरोह के शार्प शूटर एक लाख रुपये के इनामी कुख्यात अपराधी दीपक वर्मा उर्फ गुड्डू को आज यहां चौबेपुर इलाके में हुई मुठभेड़ में ढेर कर दिया।
एसटीएफ प्रवक्ता ने यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि एसटीएफ संगठित अपराधों, कुख्यात/पुरस्कार घोषित अपराधियों तथा उनके गिरोहों पर प्रभावी कार्रवाई कर रही है। इस सम्बन्ध में एसटीएफ की विभिन्न टीमों को अभिसूचना संकलन एवं कार्रवाई के लिए निर्देशित किया गया था। इसी क्रम में वाराणसी एसटीएफ के पुलिस उपाधीक्षक शैलेश प्रताप सिंह के नेतृत्व में सूचना संकलन की कार्रवाई की जा रही थी।
उन्होंने बताया कि अभिसूचना संकलन के दौरान ज्ञात हुआ कि दो अपराधी बिना नंबर की मोटरसाइकिल पर थाना चौबेपुर इलाके में संदहा से शंकरपुर की तरफ जाने वाले हैं। इस सूचना पर विश्वास करते हुए निरीक्षक अमित श्रीवास्तव के नेतृत्व में एक टीम बताये गये स्थान बरियासनपुर निर्माणाधीन अण्डर पास के पास पहुंची और घेराबन्दी की । दोपहर करीब पौने दो बजे संदहा चौराहे की तरफ मोटरसाइकिल पर सवार दो व्यक्ति तेजी से आते हुये दिखायी दिये, जिन्हें रोकने का प्रयास किया गया । बाइक सवार मोटरसाइकिल को अण्डरपास से अपोजिट सर्विस लेन निर्माणाधीन हाइवे की तरफ मोड़कर तेजी से वापस भागने लगे। लगभग 400 मीटर पीछा करने पर बारिश होने के कारण मोटरसाइकिल लड़खड़ा कर गिर गयी।
प्रवक्ता ने बताया कि मोटरसाइकिल चलाने वाला बदमाश नाला, झाड़, झाड़ी का फायदा उठाकर भाग गया तथा दूसरा बदमाश पुलिस पर अन्धाधुन्ध फायर करने लगे। एसटीएफ द्वारा अपने वाहन से उतर कर तीन तरफ से घेरने का प्रयास करते हुये बदमाश को आत्मसर्पण के लिये कहा गया,लेकिन वह जान मारने की नियत से एसटीएफ पर फायर करता रह। एसटीएफ ने अपनी जान जोखिम में डालकर आत्मरक्षार्थ फायर किया,जिसमें से एक बदमाश गोली लगने से घायल होकर गिर गया। घायल बदमाश को तत्काल जिला चिकित्सालय वाराणसी भेजा गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया गया। मृत बदमाश की शिनाख्त दीपक वर्मा उर्फ गुड्डू उर्फ छोटू पुत्र रमेश वर्मा उर्फ देवीनाथ वर्मा निवासी- डी-45/76 नई बस्ती रामापुरा, थाना लक्सा वाराणसी के रूप में हुई है। इस बदमाश के कब्जे से फैक्ट्रीमेड 09 एमएम पिस्टल, देशी 0.38 बोर रिवाल्वर,बड़ी संख्या में कारतूस और बगैर नम्बर की बाइक बरामद की। पुलिस इसके साथी की तलाश कर रही है।
उन्होंने बताया कि दीपक वर्मा उर्फ गुड्डू उर्फ छोटू के संबंध में जानकारी करने पर पता चला कि यह पूर्वांचल के कुख्यात माफिया मुन्ना बजरंगी का सबसे विश्वसनीय कुख्यात साथी था, लेकिन बागपत जेल में मुन्ना बजरंगी की हत्या हो जाने के बाद इसने अपना स्वयं का एक गिरोह बना लिया । इसने सनसनखेज घटनाओं का अंजाम देकर पूर्वांचल के व्यापारियों एवं आमजन में दहशत का माहौल बना रखा था तथा लगातार हत्या, लूट एवं रंगदारी जैसे जघन्य घटनाओं को अंजाम दे रहा था। इसका वाराणसी एवं इसके आस-पास के जिलो में इतनी दहशत थी कि इसके भयवश कोई व्यक्ति जल्दी इसकी शिकायत करने का साहस नहीं कर पाता था। इसके द्वारा वाराणसी जिले एवं आस-पास के जिलो में दो दर्जन से अधिक जघन्य घटनाओं को अन्जाम दिया था।
प्रवक्ता ने बताया कि दीपक वर्मा ने वर्ष 2015 में वाराणसी के थाना लक्सा क्षेत्रान्तर्गत औरंगाबाद क्षेत्र के रहने वाले गोलू यादव की लोहता क्षेत्र में अपने साथियों के साथ हत्या कर दी थी। उसके बाद वाराणसी के भेलूपुर इलाके में सभासद शिव सेठ की हत्या अपने साथियों के साथ मिलकर सनसनीखेज तरीके से करके व्यापरियों में दहशत पैदा कर दिया गया था, जिससे वाराणसी में कई दिनों तक कानून-व्यवस्था की स्थिति बनी रही। इसकी गिरफ्तारी पर वाराणसी से एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया था। इसके खिलाफ 26 मामले दर्ज हैं।

From around the web