300 आक्सीजन प्लान्ट कब लगेंगे,तारीख बतायें योगी : लल्लू

 
न

लखनऊ -उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी से पूछा है कि प्रदेश में आक्सीजन के 300 प्लान्ट किस तारीख तक लगकर तैयार हो जाएंगे और कब तक गंभीर मरीजों को आक्सीजन उपलब्ध कराना शुरू कर देगी।
श्री लल्लू ने मंगलवार को जारी बयान में कहा कि सरकार की कोरोना महामारी से निपटने में गंभीरता दिखाने के बजाए केवल प्रदेश की जनता को गुमराह करने तक सीमित है। सरकार के जनता के साथ संकटकाल में खड़े होने के अब तक के समस्त दावे पूरी तरह से निराधार व खोखले साबित हुए हैं जिस कारण हर तरफ मौतों का सन्नाटा है और संक्रमण की रफ्तार सरकारी नियंत्रण के बाहर हो चुकी है।
उन्होने कहा कि आक्सीजन प्लान्ट लगाने और आक्सीजन कन्सन्ट्रेटर्स खरीदने की घोषणाएं करने वाले मुख्यमंत्री व उनकी तत्कालीन टीम 11 पिछले 14 महीने तक कोरोना महामारी के पीक की पूर्व चेतावनी के बाद क्या करती रही। सीएम केयर फण्ड में महामारी से निपटने के लिए संसाधन जुटाने के लिए आम जनता से लेकर प्रदेश के सांसदों व विधायकों तक की निधि व वेतन से पैसा एकत्रित किया गया, उसके बाद भी अब जब आक्सीजन व चिकित्सीय सुविधाओं के अभाव में अनवरत सैंकड़ों की संख्या में मौतें हो गयीं और प्रतिदिन लगभग 30 हजार लोग संक्रमित हो रहे हैं तो ऐसे में सरकार आक्सीजन प्लान्ट लगाये जाने व कन्सन्ट्रेटर्स खरीद की बात कर रही है। यह कब तक हो पायेगा, इसका अभी तक कोई अता-पता नहीं है।
प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि सरकार की मंशा पर सवाल इसलिए खड़े हो रहे हैं कि पूर्व में उसने घोषणा की थी कि ग्लोबल टेण्डरिंग के माध्यम से उ0प्र0 संक्रमण से निपटने के लिए वैक्सीन का आयात करेगा। अभी तक उस ग्लोबल टेण्डरिंग की प्रक्रिया ही प्रारम्भ नहीं हो पायी है।
उन्होने कहा कि टीम 11 के बाद अब टीम 9 का भी कहीं अता-पता नहीं है। सभी जिलों में कांटैक्ट ट्रेसिंग नहीं हो रही है जिसकी वजह  से संक्रमण तेजी से फैल रहा है। आरटी-पीसीआर की टेस्टिंग घटा दी गयी है। निजी अस्पतालों में अभी भी सीधी भर्ती नहीं हो पा रही है, अभी भी सीएमओ का रेफरल लेटर  मरीजों की भर्ती में पूरी तरह से बाधा बना हुआ है।

From around the web