Thursday, September 28, 2023

मुजफ्फरनगर में पीड़ित बच्चे से मिलने पहुंचा केरल सरकार का एक प्रतिनिधिमंडल, कही ये बड़ी बात

मुजफ्फरनगर। जनपद में छात्र की पिटाई के मामले में राजनीति रुकने का नाम नहीं ले रही है। जिसके चलते बुधवार को केरल सरकार का एक प्रतिनिधिमंडल खुब्बापुर गांव में पीडित छात्र और उसके परिवार से मिलने पहुंचा था। इस प्रतिनिधिमंडल में मुख्य रूप से केरल सरकार में राज्यसभा सांसद जॉन ब्रिटास कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ़ इंडिया से कानपुर की पूर्व सांसद सुभाषिनी अली मौजूद रही।

इस दौरान जॉन ब्रिटास ने बताया कि केरल के चीफ मिनिस्टर ने स्टेटमेंट दिया है कि इस फैमिली के साथ हैं हम और केरल के शिक्षा मंत्री ने बोला है अगर इस बच्चे को शिक्षा चाहिए तो इस बच्चे की पढ़ाई हम करवाएंगे अगर यह बच्चा पढ़ना चाहता है तो पढ़ाई की पूरी मदद हम करेंगे केरला उनके साथ है इस बच्चे के साथ है यही बोलने के लिए हम केरल से यहां आए हैं अगर इस फैमिली को केरल आना है तो हम इसका स्वागत करते हैं।

- Advertisement -

जॉन ब्रिटास ने बताया कि केरल में ये एक बड़ा विषय बन गया है हम लोग परेशान है जैसा यहां पर हुआ है हम लोग शॉक्ड है केरल में कभी ऐसा नही हुआ है। मुसलमान हिन्दू सब साथ साथ रहते है केरल के चीफ मिनिस्टर ने स्टेटमेंट किया है कि हम इस फैमिली के साथ है शिक्षा मंत्री ने बोला अगर इस बच्चों को वहां शिक्षा चाहिए तो इस बच्चे की पढ़ाई हम करवाएंगे, अगर यह बच्चा पढ़ना चाहता है तो हम इसको अपने साथ ले जाएंगे। पढ़ाई की पूरी मदद हम करेंगे। उन्होंने कहा कि हमारे भारत में ऐसा होना तो शर्म का बात है।

वही इस मामले को लेकर सुभाषिनी अली ने कहा कि मेरा मुजफ्फरनगर में आना बहुत सालों से चल रहा है यहां पर जब 2013 में दंगे हुए थे तभी हम लोग यहां हर आए और हमने यहां पर बहुत लोग इकट्ठा किए और लोगों की मदद की थी। उन्होंने कहा कि अब यह घटना हम लोगों ने देखी है मुझे नहीं लगता पूरे देश में कोई ऐसा होगा जिसके दिल को चोट ना पहुंची हो। इस तरह के टीचर की जगह जेल में है स्कूल में नहीं उसको तो जेल में होना चाहिए और एक सबक जाना चाहिए कोई भी टीचर स्कूल में ऐसी हरकत ना करें यह हमारे बच्चों को अपराधी बना रहे हैं बच्चों के दिल में जहर भरा रहे हैं छोटे-छोटे बच्चों को दंगाई बना रहे हैं अगर ऐसा होगा तो समाज कैसे बचेगा समाज में क्या होगा। एकता को बचाए रखने के लिए बच्चों के दिमाग में यह जहर मत डालो यह बहुत जरूरी है।

- Advertisement -

 

Related Articles

STAY CONNECTED

74,614FansLike
5,254FollowersFollow
38,356SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

- Advertisement -

सर्वाधिक लोकप्रिय