Friday, June 14, 2024

भारतीय शेयर बाजार में 4 साल की सबसे बड़ी गिरावट, निवेशकों के 44 लाख करोड़ रुपये डूबे

मुंबई। लोकसभा चुनाव की मतगणना के रूझान एग्जिट पोल के अनुमान से कम आने के कारण भारतीय शेयर बाजार में मंगलवार को बड़ी गिरावट देखी जा रही है। दोपहर 12:30 बजे तक सेंसेक्स 5,908 अंक या 7.73 प्रतिशत गिरकर 70,668 अंक और निफ्टी 1,707 अंक या 7.34 प्रतिशत की गिरावट के साथ 21,556 अंक पर था। इससे पहले बाजार में इतनी बड़ी बिकवाली कोरोना के दौरान ही देखने को मिली थी।

 

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

बैंकिंग शेयरों में गिरावट का सबसे ज्यादा असर देखा जा रहा है। निफ्टी बैंक 4,272 अंक या 8.38 प्रतिशत की गिरावट के साथ 46,707 अंक पर है। मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भारी बिकवाली देखी जा रही है। निफ्टी मिडकैप 100 इंडेक्स 5,627 अंक या 10.59 प्रतिशत की गिरावट के साथ 47,726 अंक और निफ्टी स्मॉलकैप इंडेक्स 1,902 अंक या 8.73 प्रतिशत की गिरावट के साथ 15,173 अंक पर था।

 

बाजार में भारी बिकवाली के कारण बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का मार्केट कैप गिरकर 382 लाख करोड़ रुपये रह गया है, जो कि सोमवार के कारोबार बंद होने पर 426 लाख करोड़ था। इसमें 44 लाख करोड़ की कमी देखने को मिली है। सेक्टर के हिसाब से देखें तो पीएसयू बैंक, मेटल, रियल्टी, एनर्जी और पीएसई इंडेक्स 20 प्रतिशत तक गिर गए हैं। सभी इंडेक्स लाल निशान में हैं। सेंसेक्स पैक में एनटीपीसी, एसबीआई, टाटा स्टील, पावर ग्रिड, एलएंडटी और भारती एयरटेल टॉप लूजर्स हैं।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,188FansLike
5,329FollowersFollow
60,365SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय