Wednesday, February 21, 2024

नोएडा में कुख्यात स्क्रैप माफिया रवि काना मामले में दो पैरोकार लाइन हाजिर,पुलिस विभाग में मचा हड़कंप

नोएडा। सामूहिक बलात्कार और गैंगस्टर एक्ट में वांछित चल रहे कुख्यात स्क्रैप माफिया रवि काना और उसके गैंग के लोगों द्वारा न्यायालय में डाली गई जमानत याचिका में सुस्त गति से कार्य करने पर पुलिस आयुक्त ने थाना बीटा-दो और थाना सेक्टर-39 के पैरोकारों को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया है। पुलिस आयुक्त के इस सख्त एक्शन से पुलिस विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। पुलिस विभाग में चर्चा है कि रवि काना को संरक्षण देने वाले कुछ कोतवालों, इंस्पेक्टरों, निरीक्षकों तथा निचले स्तर के कर्मचारियों के खिलाफ भी जल्दी सख्त कार्रवाई होगी। उनकी सूची तैयार हो गई है।

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

 

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार थाना बीटा-दो के कोर्ट में पैरोकार जयवीर तथा थाना सेक्टर-39 के पैरोकार रजनीश बघेल को पुलिस आयुक्त ने तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया है। बताया जाता है कि थाना सेक्टर-39 में रवि काना और उसके साथियों के खिलाफ सामूहिक बलात्कार तथा थाना बीटा-दो में रवि और उसके साथियों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज है। पुलिस सूत्र बताते हैं कि रवि काना गैंग के लोगों ने जनपद गौतमबुद्ध नगर न्यायालय में अपनी जमानत याचिका दायर की थी।

 

दोनों पैरोकारों ने उच्च अधिकारियों को इस बात से अवगत नहीं कराया। जब उनकी जमानत यहां से खारिज हो गई तो उनकी जमानत हाईकोर्ट में गई। इस दौरान रवि काना गैंग के पास केस डायरी पहुंच गई। पुलिस अधिकारियों ने इन दोनों पैरोकार की कार्यप्रणाली को संदिग्ध माना तथा उन्हें लाइन हाजिर कर दिया गया है।

 

पुलिस आयुक्त के इस रुख से गौतमबुद्ध नगर और आसपास के जिलों में तैनात उन पुलिस  निरीक्षकों , अधिकारियों, नेताओं और पत्रकारों तथा जीएसटी विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों की सांस अटक गई हैं, जो रवि काना से सांठ-गांठ कर मोटी रकम पूर्व में कमा चुके हैं। चर्चा है कि इन सभी के नाम रवि काना के यहां से बरामद डायरी में दर्ज है।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,381FansLike
5,290FollowersFollow
41,443SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय