Wednesday, July 17, 2024

नोएडा में वायु गुणवत्ता में सुधार के लिए डीएम ने गौतमबुद्धनगर फोरम फॉर क्लीन एयर का किया उद्घाटन

नोएडा। देश में वायु प्रदूषण और जलवायु परिवर्तन के कारण होने वाली समस्या दिन प्रतिदिन बढ़ रही है। इससे लोगों के स्वास्थ्य पर विपरित प्रभाव पड़ रहा है। जनपद गौतमबुद्व नगर में इस समस्या से निजात दिलाने के मकसद डीएम मनीष कुमार वर्मा द्वारा आज कलेक्ट्रेट सभागार में लंग केयर फाउंडेशन द्वारा संचालित गौतमबुद्धनगर फोरम फॉर क्लीन एयर का उद्घाटन किया गया।

 

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

डीएम ने आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कहा कि वायु प्रदूषण व जलवायु परिवर्तन के कारण होने वाली समस्या के समाधान के लिए संबंधित विभागों के अधिकारीएवं आम नागरिक भी इसको जन आंदोलन का रूप प्रदान करें और समाज के प्रत्येक वर्ग को वायु प्रदूषण और जलवायु परिवर्तन से होने वाली हानियों के संबंध में विस्तार से जानकारी उपलब्ध कराएं। जनता को बताएं कि वायु प्रदूषण को किस प्रकार से इकम किया जा सकता है।

 

डीएम ने कहा कि वायु प्रदूषण और जलवायु परिवर्तन पर जनपद के स्कूल, कॉलेज एवं औद्योगिक संस्थानों में भी इस प्रकार के जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करते हुए अधिक से अधिक लोगों को जागरूक किया जाए, तभी हम लोग वायु प्रदूषण जैसी समस्या से निजात पा सकते हैं। उन्होंने कहा कि वायु प्रदूषण को किस प्रकार से कम करना है यह हम सब का दायित्व है, इसलिए हम सब अपने इस दायित्व का निर्वहन करते हुए स्वयं और अधिक से अधिक लोगों को वायु प्रदूषण पर अंकुश लगाने में सहयोग देने के लिए प्रेरित करें।

 

कार्यक्रम की शुरुआत लंग केयर फाउंडेशन की सहायक प्रबंधक अंशिका कंसल के स्वागत भाषण के साथ हुई। जिसके बाद टीम द्वारा अतिथियों का स्वागत किया गया। प्रो. संस्थापक ट्रस्टी लंग केयर फाउंडेशन डॉ. अरविंद कुमार ने वायु प्रदूषण और वायु गुणवत्ता के मूल सिद्धांतों के बारे में बात की। उन्होंने वायु प्रदूषण से जुड़ी स्वास्थ्य जटिलताओं के बारे में एक ज्ञानवर्धक सत्र भी दिया। आईएमए नोएडा-ग्रेटर नोएडा के प्रतिनिधि डॉ. मनोज गुप्ता सहित अन्य विशिष्ट अतिथियों ने प्रभावशाली नैनो कीनोट दिए। उन्होंने संक्षिप्त भाषणों से वायु प्रदूषण के स्वास्थ्य प्रभावों में मूल्यवान अंतर्दृष्टि प्रदान की और स्वच्छ वायु पहल को आगे बढ़ाने के लिए अटूट प्रतिबद्धता पर जोर दिया। उन्होंने वायु गुणवत्ता में सुधार के लिए नीतिगत परिवर्तनों और सामुदायिक कार्यों की वकालत करने में स्वास्थ्य पेशेवरों की भूमिका पर प्रकाश डाला।

 

कार्यक्रम का समापन एक ओपन हाउस सत्र के साथ हुआ। जहां उपस्थित लोगों ने अपनी चिंताओं और सुझावों को व्यक्त किया। कार्यक्रम का समापन डॉ. कार्मिन उप्पल के धन्यवाद ज्ञापन के साथ हुआ। कार्यक्रम के दौरान संस्थापक ट्रस्टी लंग केयर फाउंडेशन डॉ. राजीव खुराना, उप निदेशक लंग केयर फाउंडेशन डॉ. कार्मिन उप्पल के साथ पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के अधिकारी सहित अन्य उपस्थित रहे।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,098FansLike
5,348FollowersFollow
70,109SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय