Monday, March 4, 2024

मुजफ्फरनगर में प्रतिबंधित दवाइयों के पांच सौदागर पकड़े, लाखों की नगदी और कार बरामद

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

मुजफ्फरनगर। पुलिस और औषधि विभाग की संयुक्त टीम ने छापामारी कर पांच आरोपियों को पकड़ा है। बताया गया कि आरोपी प्रतिबंधित दवाइयां सप्लाई करते थे। बताया जा रहा है कि जनपद में पुलिस और औषधि विभाग की संयुक्त टीम ने छापामारी कर प्रतिबंधित दवाइयोंं की सप्लाई और बिक्री करने के पांच आरोपी पकड़े हैं। आरोपियों से 22 लाख रुपये से अधिक की नगदी, दो कार और करीब पांच लाख रुपये की दवाइयां बरामद हुई हैं।

औषधि विभाग ने पुलिस की मदद से चेकिंग अभियान चलाया। जिला परिषद में मेडिकल एजेंसी संचालक निखिल, शहर के रामलीला टिल्ला निवासी अनुज और शाहजेब समेत पांच आरोपी पकड़े गए। पुलिस ने इनके कब्जे से करीब 22 लाख रुपये नगद बरामद किए।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह ने पुलिस लाइन में पत्रकारों से वार्ता करते हुए बताया कि औषधि विभाग के साथ मिलकर प्रभारी निरीक्षक थाना कोतवाली नगर महावीर सिंह चौहान ने पुलिस टीम के साथ अन्तर्राज्यीय अवैध मादक पदार्थ तस्कर गिरोह का पर्दाफाश करते हुए 5 शातिर सप्लायरों को रुड़की रोड पीर के पास से गिरफ्तार किया है । तस्करों के कब्जे से करीब 23.70 लाख रुपये नगद, 2 गाड़ी व भारी मात्रा में अवैध नशीले पदार्थ कैप्सूल व इंजेक्शन बरामद किए गए हैं।

एसएसपी ने बताया कि पुलिस को मुखबिर खास से सूचना मिली कि संदिग्ध वस्तुओं का व्यापार करने वाले कुछ लोग बड़े पीर के पास आने वाले हैं तथा आपस में संदिग्ध वस्तुओं का लेन-देन करने वाले हैं। सूचना पर क्षेत्राधिकारी नगर व्योम बिंदल के नेतृत्व में थाना कोतवाली नगर पर पुलिस टीम का गठन किया। पुलिस टीम द्वारा मौके पर पहुंचकर आड़ लेकर खड़े हो गए। कुछ समय पश्चात 1 गाड़ी पीर से थोड़ा पहले आकर रुकी तथा उसके थोड़ी देर बाद दूसरी गाड़ी आकर रुकी, जिस पर मुखबिर द्वारा बताया गया कि यही वे लोग हैं।

पुलिस टीम ने गाड़ी सवार व्यक्तियों को अपनी-अपनी गाड़ी में ही पकड़ लिया। पकड़े गए व्यक्तियों एवं गाडिय़ों की तलाशी लेने पर भारी मात्रा में नगदी व अवैध मादक पदार्थ बरामद किए गए।  शातिर किस्म के अन्तर्राज्यीय अवैध मादक पदार्थ तस्कर अपराधी हैं, जो  नशीली दवाईयों व इंजेक्शन के पैकेट बनाकर अपने निजी वाहनों से स्थानीय क्षेत्र में तथा बसों आदि के माध्यम से दूरदराज के शहर, कस्बों, गाँवों में सप्लाई करते थे तथा अर्जित धन को आपस में बांट लेते थे।

पुलिस पूछताछ में पकड़े गए नशे के सौदागरों ने अपने नाम शाजेब पुत्र रिजवान निवासी अम्बा विहार, मौ. फैज पुत्र सरवर आलम निवासी भोकरहेड़ी थाना भोपा, निखिल पुत्र शिवकुमार निवासी गाँधी कॉलौनी थाना नई मण्डी, अनुज कुमार पुत्र सुन्दरपाल निवासी रामलीला टिल्ला थाना कोतवाली नगर, धीरज गर्ग पुत्र नरेशचन्द निवासी मौ. शांतिनगर थाना नई मण्डी बताया है।

प्रारम्भिक पूछताछ में गिरफ्तार तस्कर शाजेब ने बताया कि मेरे भाई सिराज, जोकि वर्तमान में अवैध मादक पदार्थों की तस्करी में जिला कारागार ऊना, हिमाचल प्रदेश में निरुद्ध है, की आर्य समाज रोड पर जमजम मेडिकल एजेंसी है तथा निखिल की महालक्ष्मी मेडिकल एजेंसी व धीरज गर्ग की रिया मेडिकल एजेंसी जिला परिषद् मार्केट में स्थित हैं। अनुज कुमार व धीरज गर्ग उपरोक्त भारी मात्रा में अवैध नशीली दवाईयां, इंजेक्शन को अक्षय पुत्र देशराज व अंकित शर्मा निवासी मौ. रामपुरी से खरीदते थे तथा अपनी मेडिकल एजेंसी से शावेज, मौ. फैज व निखिल को सप्लाई करते थे, जो कि अवैध नशीली दवाईयां/इंजेक्शन को आसपास एवं दूरदराज के क्षेत्र में बेचते थे।

आज शाजेव, फैज व निखिल भारी मात्रा में माल उठाने के लिए अनुज व धीरज गर्ग उपरोक्त ने बुलाए थे, परन्तु अक्षय व अंकित शर्मा उपरोक्त से सम्पर्क न हो पाने के कारण पूरा माल नहीं ला पाए थे, इनके कब्जे से  कुल 23,69,800  रुपये नगद, 1920  नशीले कैप्सूल, 400 नशीले इंजेक्शन, 500  नशीले इंजेक्शन, 5 मोबाईल विभिन्न कम्पनी के, 1 गाड़ी बलैनो नं. यूपी 14 डीबी 2845, 1 गाड़ी स्विफ्ट डिजायर नं. यूपी 12 एएम 2025 भी बरामद की गई है। एसएसपी अभिषेक सिंह ने पुलिस टीम को दस हजार रुपए के पुरस्कार की घोषणा की है।

 

Related Articles

STAY CONNECTED

74,381FansLike
5,290FollowersFollow
41,443SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय