Tuesday, June 25, 2024

गोरखपुर में नशेबाज युवक ने माता-पिता को उतारा मौत के घाट,हुआ फरार,तलाश जारी

गोरखपुर। जनपद में एक नशेबाज युवक ने हैंडपम्प के हत्थे से प्रहार करके अपने बुजुर्ग माता-पिता को मौत के घाट उतार दिया। वह पत्नी को भी मारना चाहता था, लेकिन उसकी भाभी ने उसे हत्या करते हुए देख लिया तो आरोपित वहां भाग निकला। यह पूरी घटना रविवार और सोमवार की दरमियानी रात की है। अगले दिन सोमवार की सुबह दोहरे हत्याकांड की खबर मिलते ही पुलिस के आलाधिकारी मौके पर पहुंचे गये।

गोला इलाके के फत्तेपुर गांव के दलित बस्ती निवासी राजपति (75) और उनकी पत्नी मुराती देवी (70) के तीन बेटे रामाशीष (50), शिवशंकर (45) और दयानंद (42) हैं। दो बेटे रामाशीष और शिवशंकर अपने परिवार के साथ मुंबई में रहते हैं। अभी दोनों चाचा के बेटे की शादी में परिवार के साथ गांव आए हुए हैं। छोटा बेटा दयानंद और उसका परिवार गांव पर ही रहता है। रविवार को गांव से ही चाचा के बेटे की बारात गई थी, जिसमें गांव और परिवार के सभी लोग गये थे। दयानंद बारात नहीं गया था। देर रात्रि को शराब की नशे में धुत होकर आए दयानंद ने हैंडपंप के हत्थे से नींद में सो रहे अपने माता-पिता के सिर पर कई वार करके उनकी हत्या कर दी।

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

उसके सिर पर खून इस कदर सवार था कि माता-पिता की हत्या के बाद वह अपनी पत्नी चंदा की भी हत्या करने के लिए उसे खोजते हुए छत पर जा पहुंचा। उसने अपनी भाभी अमला देवी को देखकर हैंडपंप के हत्थे को सीढ़ी पर फेंका और फरार हो गया।

दयानंद को भागता देख भाभी अमला ने जब नीचे आकर देखा तो सास-ससुर के शवों को देखकर शोर मचाने लगी। इस बीच उसका पति शिवशंकर समेत अगल-बगल के लोग भी पहुंच गए। सोमवार की भोर में सूचना पर पहुंची पुलिस ने फोरेंसिक टीम की मदद से घटनास्थल से साक्ष्य जुटाकर शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

बड़े भाई शिवशंकर ने बताया कि दयानंद अपनी पत्नी पर शक करता था। उस पर चरित्रहीनता का आरोप लगाकर अक्सर मारपीट करता रहता था। इसी वजह से बच्चों को लेकर मायके में रहती थी। परिवार में शादी होने के मौके पर वो यहां आयी थी। बारात उठाने के दौरान दयानंद और उसकी पत्नी के बीच झगड़ा हुआ था। उसने अपनी पत्नी को फावड़ा से मारने की कोशिश की थी। बीच-बचाव करने पर दयानंद वहां से धमकी देते भाग गया था। इसी डर की वजह से चंदा को बारात जाने के बाद चाचा के घर ही सुला दिया था, जिससे उसकी जान बच गई।

गोला थाना प्रभरी मधुपनाथ मिश्रा ने बताया कि परिजनों से मिली तहरीर के आधार पर आरोपी दयानंद के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है। उसकी तलाश की जा रही है, जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,188FansLike
5,329FollowersFollow
60,365SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय