Thursday, February 22, 2024

नोएडा में साइबर अपराधियों ने दो लोगों को बनाया शिकार, 7. 64 लाख की ठगी

नोएडा। उत्तर प्रदेश की आर्थिक राजधानी के रूप में विख्यात गौतमबुद्ध नगर जनपद में साइबर क्राइम की वारदातें लगातार बढ़ रही है। जिस गति से नोएडा व ग्रेटर नोएडा क्षेत्र में साइबर अपराध हो रहे हैं, उससे सभी वर्ग के लोग चिंतित है। यदि आपके पास किसी अंजान नंबर से वाट्सएप मैसेज आए और पार्ट टाइम या फुल टाइम नौकरी का ऑफर आ रहा है तो अलर्ट हो जाए। झांसे में कतई न आएं। खास बात यह है कि औद्योगिक शहर नोएडा में साइबर अपराधी पढ़े-लिखें लोगों को अपना शिकार बना रहे हैं और लाखों रुपए ठग रहें हैं। नोएडा में साइबर ठगों ने थाना सेक्टर-39 क्षेत्र में रहने वाले दो लोगों को अपना शिकार बनाते हुए 7. 64 लाख रुपए की ठगी कर ली है। पीड़ितों की शिकायत पर घटना की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

 

 

थाना सेक्टर-39 के प्रभारी निरीक्षक जितेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि सेक्टर-44 के छलेरा के एफ-ब्लॉक में रहने वाले सर्वेश कुमार सिंह ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है कि कुछ दिन पहले उन्हें सोशल मीडिया के माध्यम से एक संदेश आया। संदेश देने वाले ने उनसे कहा कि अगर वह उनके साथ टेलीग्राम एप से जुड़ते हैं तो कुछ पैसे इन्वेस्ट करने पर उन्हें ज्यादा मुनाफा दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि पीड़ित ने साइबर ठग की बात पर विश्वास करके टेलीग्राम एप से जुड़ गया। आरोपियों ने शुरुआती दौर में उसे कुछ फायदा दिया, तथा धीरे-धीरे अपने जाल में फंसाकर उससे 3 लाख 30 हजार रुपए ठग लिया है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा थाना क्षेत्र के छलेरा गांव में ही रहने वाले एक व्यक्ति से साइबर ठगों ने चार लाख 34 हजार रुपए ठग लिया।

 

 

थाना प्रभारी ने बताया कि सेक्टर-41 में रहने वाले प्रबल गुप्ता ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है कि उसकी सोशल मीडिया के माध्यम से विदेश में रहने वाली मारिया नामक एक महिला से संपर्क हुआ। उन्होंने बताया कि मारिया ने उससे कहा कि वह उससे मिलने के लिए भारत आ रही है। इसी बीच एक व्यक्ति का उनके पास फोन आया। उसने कहा कि मारिया को एयरपोर्ट पर कस्टम द्वारा पकड़ा गया है। उसके पास विदेशी मुद्रा और सोने  के आभूषण है। अगर उसे छुड़ाना है तो आप कस्टम के रूप में 4,34,000 रुपए तुरंत जमा करा दो। पीड़ित कथित कस्टम अधिकारी की बातों में आ गया तथा उसने उसके बताए गए खाते में रकम जमा कर दी। बाद में उसे पता चला कि वह साइबर ठगी का शिकार हुआ है। थाना प्रभारी ने बताया कि दोनों पीड़ितों की शिकायत पर घटना की रिपोर्ट दर्जकर पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,381FansLike
5,290FollowersFollow
41,443SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय