Wednesday, July 24, 2024

राहुल गांधी के ‘हिंदू’ बयान पर कथावाचक अनिरुद्ध आचार्य ने कहा, सनातन को समझना आपके बस की बात नहीं

नई दिल्ली। लोकसभा में कांग्रेस सांसद और विपक्ष के नेता राहुल गांधी द्वारा दिए गए बयान को लेकर बवाल मचा हुआ है। राहुल गांधी ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा था कि ये लोग हिंदू नहीं हैं, क्योंकि ये 24 घंटे हिंसा की बात करते हैं। इस बयान को लेकर अब कथावाचक अनिरुद्ध आचार्य ने भी राहुल गांधी पर निशाना साधा है। कथावाचक अनिरुद्ध आचार्य ने कहा, ”मैंने अभी राहुल गांधी जी का बयान सुना, जिसमें उन्होंने कहा कि हिंदू हिंसा फैलाते हैं, भारत देश हमेशा से ही अहिंसा की बात करता रहा है, अहिंसा ही परमो धर्म:। महाराणा प्रताप को लगा कि तलवार उठाना चाहिए, तो महाराणा प्रताप ने तलवार उठाकर सनातन की रक्षा की, रानी लक्ष्मीबाई को लगा कि तलवार उठाना चाहिए तो उन्होंने तलवार उठाकर सनातन की रक्षा की।”

 

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

अब राहुल गांधी जी कहते हैं कि जो अस्त्र-शस्त्र उठाएं, हिंसा करें… वो हिंदू नहीं हैं, ऐसे में मैं राहुल गांधी जी से पूछना चाहता हूं कि क्या उनके अनुसार महाराणा प्रताप हिंदू नहीं थे? अहिंसा अच्छी बात है, लेकिन जब कोई हमारी बहन-बेटियों को, हमारे देश को गंदी नजरों से देखेगा, तो क्या तब भी हम अहिंसा की बात करते रहेंगे। भगवान राम ने सीता हरण के बाद रावण को काफी समझाया था, लेकिन जब वह नहीं मानें तो आखिर में भगवान राम को धनुष-बाण उठाना ही पड़ा।” ”भगवान कृष्ण ने शिशुपाल को 100 बार माफ किया, लेकिन जब वह नहीं माना तो भगवान श्रीकृष्ण को सुदर्शन चक्र चलाना पड़ा। इतने बड़े विपक्ष के नेता होकर राहुल गांधी को यह बात समझनी चाहिए।”

 

उन्होंने आगे कहा, ”जब आपकी (कांग्रेस) सरकार थी, तब झूठ पढ़ाया जाता था। ‘जो जीता वहीं सिकंदर’ ये आपकी सरकार में पढ़ाया गया, क्या ये झूठ नहीं था। इसलिए हम सनातनी अहिंसा की बात करते हैं, लेकिन जरूरत पड़ने पर राष्ट्र के लिए तलवार भी उठा सकते हैं और तलवार चला भी सकते हैं। यही धर्म है। अगर दया धर्म है तो जरूरत पड़ने पर तलवार चलाना भी धर्म है।” ”राहुल गांधी को धर्म की परिभाषा अभी सीखनी पड़ेगी, समझनी पड़ेगी, उसके बाद वह सनातन पर बात करें। आप खुलेआम कह रहे है कि हिंदू हिंसा फैलाने वाले हैं, पर मैं आपको बता दूं कि हिंदू अहिंसा का पुजारी है। राहुल गांधी जी, धर्म की परिभाषा बड़ी जटिल है, ये परिभाषा समझना आपके बस की बात नहीं है। अगर आप सनातनी होते, तो जरूर सनातन को समझते।’

 

‘ लोकसभा में राहुल गांधी ने अपने संबोधन में कहा था, ”सभी धर्म और महापुरुष अहिंसा और निडरता की बात करते हैं। सभी कहते हैं कि डरो मत और डराओ मत, शिवजी कहते हैं डरो मत और डराओ मत, वो अहिंसा की बात करते हैं, लेकिन जो लोग अपने आपको हिंदू कहते हैं, वो 24 घंटे हिंसा, नफरत और असत्य की बात करते हैं।” राहुल ने कहा, ”आप हिंदू हैं ही नहीं… हिंदू धर्म में साफ लिखा है सत्य के साथ खड़ा होना चाहिए, सत्य से पीछे नहीं हटना चाहिए।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,098FansLike
5,348FollowersFollow
70,109SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय