Sunday, June 23, 2024

छत्तीसगढ़ में भीषण गर्मी से अब तक सात लोगों की मौत, तापमान 47 डिग्री पार

रायपुर। छत्तीसगढ़ में नौतपा के आठवें दिन आज शनिवार भी प्रदेश में अलसुबह से तेज गर्म हवाएं चल रही हैं । पिछले एक सप्ताह में भीषण गर्मी के कारण अब तक अलग-अलग जिलों में सात लोगों की जान जा चुकी है। शुक्रवार को बिलासपुर में 2 और जांजगीर-चांपा में एक भिखारी की मौत हो गई। वहीं बलौदाबाजार के भैंसा में एक मनरेगा मजदूर ने दम तोड़ दिया। वह काम करके लौटा था, अस्पताल में उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई।मौसम विभाग ने रायपुर, बिलासपुर, सरगुजा और दुर्ग संभाग के कई जिलों में लू का अलर्ट जारी किया है। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने लोगों से अपना ध्यान रखने और बहुत जरूरी होने पर ही घर से निकलने की अपील की है।

 

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार गर्मी के प्रकोप से अगले चौबीस घंटे में किसी तरह की राहत की गुंजाइश नहीं है। उत्तर-पश्चिम से आने वाली शुष्क हवा के प्रभाव से छत्तीसगढ़ का उत्तरी और मध्य इलाका भारी गर्मी की चपेट में है। इन इलाकों का तापमान 46-47 डिग्री तक दर्ज किया गया है।जिसकी वजह से दस से अधिक जिलों में लगातार लू का अलर्ट जारी किया जा रहा है। मौसम विज्ञान केंद्र के विशेषज्ञ संजय बैरागी का कहना है कि अगले चौबीस घंटे में गर्मी से राहत मिलने की दूर तक संभावना नहीं है। शुष्क और गर्म हवा को रोकने के लिए सिस्टम तैयार नहीं हुआ है। शुक्रवार को राज्य में गर्मी का दौर जारी रहा और सबसे अधिक 47.3 डिग्री तापमान रायगढ़ 46.9 डिग्री मुंगेली का दर्ज किया गया है। प्रदेश के सात जिलों में अधिकतम तापमान 45 डिग्री से ऊपर पहुंच चुका है।

स्वास्थ्य विभाग ने प्रदेश के सभी मुख्य चिकित्सा एंव स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) तथा सिविल सर्जन को चिकित्सालय में लू के प्रबंधन के लिए दिशा-निर्देश दिए गए हैं। शासकीय अस्पतालों की ओपीडी में आने वाले सभी मरीजों में लू के लक्षण जांच अनिवार्य रूप से करने निर्देशित किया गया है।अस्पतालों में बुखार, उल्टी दस्त, डिहाइड्रेशन के मरीज आ रहे हैं। राजधानी रायपुर के शासकीय और निजी अस्पतालों सहित पूरे प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में रोजाना सैकड़ों मरीज पहुँच रहे है।चिकित्सीय सूत्रों के मुताबिक पिछले तीन दिनों में डिहाइड्रेशन के मरीजों की संख्या काफी बढ़ गई है।

राजनांदगांव जिला अस्पताल में 150 मरीज भर्ती हैं। रायपुर जिला अस्पताल की ओपीडी में 300 से अधिक मरीज आ रहे हैं। यहां डिहाइड्रेशन के 30 मरीज भर्ती है। जांजगीर-चांपा जिला अस्पताल में तीन सौ से अधिक डिहाइड्रेशन पीड़ित लोगों की जानकारी मिली है । यहां लू से एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है। सरगुजा में लू से चार दिन में 71 लोग बीमार हुए हैं। दुर्ग के सिविल अस्पताल तीन दिन में तीन सौ से ज्यादा मरीज आए हैं। कोरबा मेडिकल कालेज में एक हफ्ते में लू के नौ मरीज आए हैं।

मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने सभी संस्थाओं को फायर फाइटर की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने एक्स पर पोस्ट साझा करते हुए अधिकारियों को फायर फाइटर की जांच के निर्देश दिए हैं। सभी शासकीय कार्यालयों, छोटे-बड़े उद्योगों, होटलों, इमारतों, माल, गेमिंग जोन, पेट्रोल पंपों आदि का मुआयना कर अग्निशामक यंत्र की सुविधाएं सुनिश्चित करने के लिए निर्देश दिए हैं।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,188FansLike
5,329FollowersFollow
60,365SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय