Wednesday, July 17, 2024

मुजफ्फरनगर में 5000 रुपये के लिए हुई थी युवक की हत्या, आरोपी दोस्त गिरफ्तार

मुजफ्फरनगर। नईमंडी क्षेत्र की वसुंधरा कालोनी में दोस्त से उधार लिए पांच हजार रुपए वापस करने के बहाने घर बुलाकर धर्मेन्द्र की हत्या की गई थी और दो दिन तक शव को बाथरूम में छिपाकर रखने के बाद रेहड़े वाले को पचास हजार रुपए देकर शव को मंसूरपुर क्षेत्र में ठिकाने लगवा दिया था। रोहित ने धर्मेन्द्र के पास बैग में रखे रुपए भी हड़प लिए थे। पुलिस ने रकम बरामद कर हत्यारोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

एसपी सिटी सत्यनारायण प्रजापत ने पुलिस लाइन में पत्रकारों से वार्ता करते हुए बताया कि नई मंडी थाना क्षेत्र  की पॉश कॉलोनी वसंधुरा में ऑटोमोबाइल कंपनी में काम करने वाले धर्मेंद्र आर्य (35) की उसके दोस्त रोहित अरोरा ने ही छ: जुलाई को धारदार हथियार से वार कर अपने ही घर में हत्या कर दी थी। लाश को तीन दिन तक घर में ही छिपाए रखा और फिर एक रेहड़े वाले को पचास हजार रुपए देकर उसमें रखवाकर शव को मंसूरपुर क्षेत्र में फिंकवा दिया था।

एसपी सिटी ने बताया कि पुलिस ने आरोपी से सख्ती से पूछताछ की, तो वारदात का खुलासा हुआ। उन्होंने बताया कि शहर के अवध विहार निवासी धर्मेंद्र आर्य (35) और मूल रूप से दिल्ली के कृष्णानगर और वर्तमान में वसुंधरा कॉलोनी निवासी रोहित अरोरा जानसठ रोड स्थित एक ऑटोमोबाइल कंपनी में एक साथ काम करते थे। दो माह पहले रोहित ने काम छोड़ दिया था। शनिवार को धर्मेंद्र आर्य कंपनी से  तीन लाख 64 हजार रुपये और चेक लेकर बैंक में जमा करने के लिए निकला था, लेकिन इसके बाद गायब हो गया। परिजन और कंपनी के कर्मचारी उसकी तलाश कर रहे थे। शक होने पर पुलिस ने रोहित को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो हत्या की वारदात का खुलासा हुआ।

सोमवार शाम करीब चार बजे बोरे में बंद उसका शव मंसूरपुर थाना क्षेत्र के जड़ौदा गांव के पास होटल के पीछे पड़ा मिला। धर्मेंद्र आर्य रुपये लेकर आरोपी रोहित के वसुंधरा कॉलोनी स्थित घर पर आया था। दोनों के बीच रुपयों के लेन-देन को लेकर विवाद हो गया। रोहित ने धारदार हथियार से वार कर उसकी हत्या कर दी। शव को आरोपी ने दो दिन तक घर में ही छिपाए रहा। सोमवार को एक रेहड़े को पचास हजार रुपए में किराए पर बुलाकर लाश को ठिकाने लगवा दिया था, लेकिन इस बीच परिजनों के शक जताने पर पुलिस ने आरोपी को पकड़ लिया। पुलिस ने आरोपी रोहित अरोरा से 3,76,100  रुपये की नकदी बरामद कर ली है।

पूछताछ में रोहित अरोरा ने पुलिस को बताया कि उसने दो माह पहले धर्मेन्द्र से पांच हजार रुपए उधार लिए थे, वह अपने उधार दिए रुपए मांग रहा था। छ: जुलाई को जब उसने पैसे मांगे, तो उसे घर पर बुला लिया, बातचीत के दौरान पता चला कि धर्मेन्द्र अभी आफिस से आया है और बैंक में रुपए व चेक जमा करने जा रहा है, यह सुनकर मन में लालच आ गया और कमरे से धारदार हथियार लेकर सोफे पर बैठे धर्मेन्द्र के सिर पर पीछे से वार कर दिया। हत्या करने के बाद उसके शव को बाथरूम में छिपाकर उसकी स्कूटी एटूजेड रोड पर ले जाकर खड़ी कर दी। उस समय उसकी पत्नी व बच्चा स्कूल में गये हुए थे। पुलिस ने हत्यारोपी की निशानदेही पर शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और हत्यारोपी को जेल भेज दिया।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,098FansLike
5,348FollowersFollow
70,109SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय