Saturday, May 18, 2024

किसान संगठनों में छिपे आप, कांग्रेस, अकाली कार्यकर्ता दे सकते हैं अप्रिय घटना को अंजाम: जाखड़

मुज़फ्फर नगर लोकसभा सीट से आप किसे सांसद चुनना चाहते हैं |

चंडीगढ़,- पंजाब भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने शनिवार को आरोप लगाया कि पंजाब में भाजपा उम्मीदवारों को प्रचार करने से रोकने के लिए आम आदमी पार्टी, कांग्रेस और शिरोमणि अकाली दल तरह-तरह के हथकंडे अपना रही है।

श्री जाखड़ ने कहा कि तीनों दलों के कार्यकर्ता किसान संगठनों के आंदोलन की आड़ लेकर भाजपा उम्मीदवारों का रास्ता रोक रहे हैं। उन्होंने आशंका जतायी कि प्रदर्शनकारी किसानों में घुसपैठ कर चुके आप और कांग्रेस के ये कार्यकर्ता भाजपा उम्मीदवारों को बदनाम करने के लिए किसी भी हद तक जा सके हैं। यहां तक कि वास्तविक किसानों के खिलाफ अप्रिय घटनाओं को भी अंजाम दे सकते हैं।

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

उन्होंने कहा, “ जब से भाजपा ने लोकसभा सीटों के लिये अपने प्रत्याशी घोषित किये हैं, तब से आम आदमी पार्टी, कांग्रेस और अकाली दल के लोग किसान संगठनों के कार्यकर्ताओं के रूप में अलग-अलग जगह जाकर हमारे उम्मीदवारों का रास्ता रोक रहे हैं। परनीत कौर, हंसराज हंस, दिनेश सिंह बब्बू, सुशील रिंकू, तरनजीत संधू, रवनीत बिट्टू, अनीता सोमप्रकाश या परमपाल कौर सबको प्रचार नहीं करने दिया जा रहा। ”

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा, “ पंजाब की भारतीय प्रशासनिक सेवा की अधिकारी परमपाल कौर के इस्तीफे को भगवंत मान सरकार लगातार नामंजूर कर रही है। फिर रवनीत बिट्टू को नामंकन पत्र से पहले आधी रात को सरकारी महकमे ने 1.82 करोड़ रुपये जमा करवाने के लिये नोटिस भेजा गया। इससे पहले राजपुरा के पास परनीत कौर की चुनावी सभा के दौरान किसान की मौत का गलत प्रचार किया गया और निर्दोष पर मामला दर्ज किया गया। शुक्रवार-शनिवार की आधी रात को बिजली बंद कर या काट कर भगवंत मान सरकार द्वारा रवनीत बिट्‌टू को परेशान किया गया। इससे भगवंत मान सरकार की भाजपा उम्मीदवारों को परेशान कर चुनाव प्रचार मुहिम में बाधा डालने की रणनीति साफ दिखती है ।

श्री जाखड़ ने कहा, “ पंजाब के मुख्य चुनाव अधिकारी ने जिला प्रशासन और जिला पुलिस अधिकारियों को पत्र लिखकर स्पष्ट कहा है कि राज्य में धारा 144 लगी हुई है। इसलिये कोई भी इस प्रकार धरना-प्रदर्शन नहीं कर सकता और न ही किसी उम्मीदवार का रास्ता नहीं रोक सकता है। इसके बावजूद हमारे उम्मीदवारों का रास्ता रोका जा रहा है। किसी अधिकारी ने किसान संगठनों को नहीं पूछा कि प्रदर्शन करने के लिए उन्होंने किससे मंजूरी ली? इससे स्पष्ट होता है कि किसान संगठनों का यह आंदोलन पंजाब की मान सरकार

द्वारा प्रायोजित है। ”

श्री जाखड़ ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को उच्चतम न्यायालय से चुनाव अभियान के लिये सिर्फ अंतरिम जमानत मंजूर हुई है। वह आरोप मुक्त नहीं हुये हैं। आम आदमी पार्टी बताये कि इसमें उत्सव की क्या बात है? श्री जाखड़ ने कहा कि जिन आरोपों में तथा जिस शराब घोटाले के तथ्यों के आधार पर उन पर मामला चल रहा है, उस पर उच्चतम न्यायालय ने कुछ नहीं कहा। उच्चतम न्यायालय ने तो सिर्फ इतना ही कहा है

कि चुनाव चल रहे हैं। पांच साल बाद चुनाव आते हैं और इसलिये केजरीवाल को कैंपेन की के लिए बेल देनी चाहिये।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,188FansLike
5,319FollowersFollow
50,181SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय