Monday, February 26, 2024

राम मंदिर के विरोध में सोशल मीडिया पर सपा के खिलाफ फूटा गुस्सा, टॉप ट्रेंड हुआ,#रामद्रोही_सपा,यूजर्स ने सुनाई खरी-खोटी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा में प्रभु श्रीरामलला की प्राण प्रतिष्ठा और नवनिर्मित राम मंदिर पर बधाई प्रस्ताव का विरोध करने वाले विपक्षी दल सपा और उसके विधायकों के विरूद्ध सदन से लेकर सोशल मीडिया तक उबाल देखने को मिला। सदन में सरकार ने सपा के राम विरोधी चेहरे को उजागर किया तो सोशल मीडिया पर खूब भर्त्सना की।

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर यूजर्स ने सपा के विधायकों को रामद्रोही करार दिया और देखते ही देखते #रामद्रोही सपा ट्रेंड करने लगा। देर शाम तक यह हैशटैग एक्स के टॉप ट्रेंड्स में शुमार रहा और लोगों ने भगवान राम का विरोध करने वाले सपा विधायकों को जमकर खरी-खोटी सुनाई।

दरअसल, संसदीय कार्य मंत्री ने श्रीराम मंदिर के निर्माण के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बधाई का प्रस्ताव सदन में प्रस्तुत किया। विधानसभा अध्यक्ष ने सभी सदस्यों से प्रस्ताव के पक्ष और विपक्ष में हाथ उठाने को कहा। प्रश्न प्रस्तुत करने पर अधिकांश सदस्यों ने अपने हाथ उठाए। इसमें विपक्ष की ओर से बसपा के उमाशंकर सिंह ने प्रस्ताव का समर्थन किया। विपक्षी दल समाजवादी पार्टी, राष्ट्रीय लोकदल एवं कांग्रेस के किसी सदस्य ने समर्थन में हाथ नहीं उठाया। जबकि विपक्ष के 14 सदस्यों ने अपने हाथ उठाए। वहीं सोशल मीडिया पर सपा की हरकत से नाराज रामभक्तों का गुस्सा फूट पड़ा।

सदन में नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री एके शर्मा ने राम और राम मंदिर के विरोध पर सपा को खरी-खोटी सुनाई। वहीं सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर सामान्य यूजर्स ने भी सपा विधायकों को आड़े हाथ लिया। यूजर्स ने सपा के विधायकों को निर्लज्ज बताते हुए चुनावों में उन्हें सबक सिखाने की अपील की। रेखा चौबे नाम की एक यूजर ने लिखा कि समाजवादियों का असली चेहरा सामने आ गया। इनके विधायकों का दुस्साहस देखिए… सदन में राम मंदिर का खुलेआम विरोध करते हैं। जनता जब ऐसे नकली समाजवादियों को सबक सिखाएगी, तब इनके मुखिया कहेंगे कि ईवीएम हैक हो गया। इसी तरह कल्पना श्रीवास्तव ने लिखा- ध्यान से देखिए और सपा के इन विधायकों के नाम याद कर लीजिए जिन्होंने उत्तर प्रदेश विधानसभा में राम मंदिर पर बधाई प्रस्ताव का विरोध किया। रामभक्त जनता अब इन दलों का बैंड बजाएगी। वहीं मयंक उपाध्याय ने लिखा- जो राम का नहीं वो किसी काम का नहीं तो प्रो. सरिता ने लिखा- सपा के बेशर्म विधायकों को राम मंदिर से इतनी घृणा है कि विरोध करने के लिए निर्लज्जता की सारी सीमा पार कर दी।

सपा के इन 14 विधायकों ने किया राम मंदिर का विरोध

अयोध्या धाम में श्रीरामलला के मंदिर बनाए जाने पर बधाई प्रस्ताव पर सपा के 14 विधायकों ने विरोध किया। इन 14 विधायकों में मनोज कुमार पारस, लालजी वर्मा, स्वामी ओमवेश, जयकिशन साहू, संदीप सिंह, मो. ताहिर खां, डा. संग्राम यादव, महबूब अली, कविंद्र चौधरी, महेंद्र यादव, विजमा यादव, रफीक अंसारी, त्रिभुवन दत्त और आजमगढ़ के अखिलेश का नाम शामिल है।

 

 

 

Related Articles

STAY CONNECTED

74,381FansLike
5,290FollowersFollow
41,443SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय