Thursday, June 13, 2024

हरेंद्र मलिक हुए विजयी, केन्द्रीय राज्य मंत्री व दो बार के सांसद डा. संजीव बालियान को 25,989 वोटों से दी करारी शिकस्त

 

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट से सपा गठबंधन प्रत्याशी हरेन्द्र मलिक ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की है। उन्होंने दो बार के सांसद व केंद्रीय राज्यमंत्री डा. संजीव बालियान को 25,989 मतों से पराजित किया है। डा. संजीव बालियान इस बार हैट्रिक लगाने के लिये मैदान में उतरे थे और उन्होंने अपनी जीत के लिए पूरा जोर लगाया, लेकिन हरेन्द्र मलिक ने उनका विजय रथ रोक दिया। तीन लोकसभा चुनाव हारने के बाद आखिरकार हरेन्द्र मलिक को जीत मिली है। इससे पहले वह तीन बार विधायक व एक बार राज्यसभा सांसद भी रह चुके है। ऐतिहासिक जीत पर उन्होंने मुजफ्फरनगर की जनता का आभार जताया है। मंडी समिति में जिलाधिकारी से जीत का प्रमाण पत्र लेने के बाद हरेन्द्र मलिक सबसे पहले महावीर चौक स्थित सपा कार्यालय पहुंचे और पिफर चौधरी राकेश टिकैत से उनके आवास पर मिले, इसके बाद वह शिव चौक पर भगवान आशुतोष का आशीर्वाद लिया।

 

 

मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट से सपा गठबंधन ने हरेन्द्र मलिक, भाजपा ने अपने दो बार के सांसद डॉ. संजीव बालियान व बसपा ने दारा सिंह प्रजापति को मैदान में उतारा था। तीनों मुख्य दलों के प्रत्याशियों के अलावा आठ अन्य प्रत्याशी भी मैदान में अपनी किस्मत आजमा रहे थे। लगभग 25 दिन तक चले चुनाव प्रचार के बाद विगत 19 अप्रैल को मतदान हुआ था। वर्ष 2019 के मुकाबले मत प्रतिशत घटने से मतदान के दिन भी भाजपाइयों के हौसले पस्त हो गये थे, जिसका परिणाम आज मतगणना के पश्चात देखने को मिला, जिसमें डा. संजीव बालियान की हार हुई और हरेन्द्र मलिक को मुजफ्फरनगर की जनता ने अपना सांसद चुना। हरेन्द्र मलिक पहले ही घोषणा कर चुके थे, कि यह उनका आखिरी चुनाव है। आज सुबह मंडी समिति परिसर में कड़ी सुरक्षा के बीच मतगणना प्रारम्भ हुई।

 

 

सबसे पहले बैलेट पेपर की गिनती की गई, जिसमें हरेन्द्र मलिक को संजीव बालियान से ज्यादा 1317 वोट मिले थे। इसके बाद लगभग 9 बजे ईवीएम की गिनती प्रारम्भ हुई और 27 राउंड में से केवल पांच राउंड ऐसे रहे, जिसमें संजीव बालियान ने बढ़त बनाई,  बाकी सभी राउंड में हरेन्द्र मलिक ही लीड लेते रहे। 26वें राउंड में यह पूरी तरह से सुनिश्चित हो गया था कि जीत हरेन्द्र मलिक की होने जा रही है। 26वां राउंड शुरू होते ही भाजपा प्रत्याशी संजीव बालियान भी मतगणना स्थल से चले गये थे। लगभग 4 बजे तक मतगणना चली, जिसमें 27 राउंड गिनती हुई।

 

 

सपा प्रत्याशी हरेन्द्र मलिक को कुल 469804 मत प्राप्त हुए, जबकि भाजपा प्रत्याशी संजीव बालियान को 443815 मत प्राप्त हुए। इस प्रकार सपा प्रत्याशी हरेन्द्र मलिक 25989 मतों से विजयी रहे। बसपा प्रत्याशी दारा सिंह प्रजापति 143323 मत पाकर तीसरे स्थान पर रहे। निर्दलीय प्रत्याशी कविता 1970, सुनील कुमार 858, बीरबल सिंह 1419, अंकुर 362, मनुज शर्मा 333, रेशू शर्मा 679, शशिकांत शर्मा 1429 व सुनील त्यागी 7131 मत लेने में कामयाब रहे, जबकि 3884 मतदाता ऐसे भी थे, जिन्होंने किसी भी प्रत्याशी को  पसंद नहीं किया और नोटा का बटन दबाया।

 

 

सपा प्रत्याशी हरेन्द्र मलिक की जीत की घोषणा होते ही उनके समर्थकों में खुशी की लहर दौड गई और उन्होंने जमकर जश्न मनाया। जिलाधिकारी अरविंद मलप्पा बंगारी ने नवनिर्वाचित सांसद हरेन्द्र मलिक को जीत का प्रमाण पत्र दिया। इस दौरान उनके दोनों पुत्र विधायक पंकज  मलिक व निशांत मलिक भी वहां मौजूद रहे। जीत का प्रमाण पत्र लेने के पश्चात हरेन्द्र मलिक ने अपने दोनों पुत्रों को गले लगा लिया।

 

 

मंडी समिति से जीत का प्रमाण पत्र लेने के बाद नवनिर्वाचित सांसद हरेन्द्र मलिक का जुलूस मंडी समिति से प्रारंभ होकर महावीर चौक होते हुए सपा कार्यालय पहुंचा, जहां पर नेताजी के चित्र पर पुष्प अर्पित किये गये। इसके बाद सरकुलर रोड पर  चौ. राकेश टिकैत के आवास पर भी हरेन्द्र मलिक ने पहुंचकर उनसे मुलाकात की। यहां से उनका जुलूस शिव चौक पहुंचा, जहां पर उन्होंने भगवान आशुतोष का आशीर्वाद लिया। हरेन्द्र मलिक का मीनाक्षी चौक पर भी मुस्लिम समुदाय के लोगों ने जोरदार स्वागत किया। इसके अलावा अनेक स्थानों पर उनका स्वागत हुआ और समर्थकों ने मिठाई खिलाकर व माला पहनाकर अपनी खुशी का इजहार किया।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,188FansLike
5,329FollowersFollow
58,054SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय