Wednesday, April 10, 2024

मेरठ में एमएसपी कानून के लिए 14 मार्च को दिल्ली कूच करेंगा भाकियू

मेरठ। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत ने कहा कि वह संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर 14 मार्च को दिल्ली रामलीला मैदान में किसान महापंचायत में शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि कृषि यंत्र प्रदूषण से मुक्त हो, एमएसपी कानून बने। उन्होंने किसान मोर्चा के आह्वान पर 14 मार्च को भाकियू पदाधिकारियों व किसानों से दिल्ली के रामलीला मैदान में पहुंचने की अपील की।

उन्होंने कहा कि सरकार का जो घोषणा पत्र था, उसका पता ही नहीं चला। आज तक वह घोषणा पत्र लागू ही नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि विद्युत नलकूप की जो बिल फ्री की घोषणा हुई है, वह पूर्ण रूप से फ्री हो। किसानों को विद्युत कनेक्शन निशुल्क मिलें। कहा कि किसान एकजुट हों और अपनी लड़ाई लड़ें। किसानों को संघर्ष करना होगा। सरकार की गलत नीतियों का विरोध करना जरूरी है।

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

उन्होंने कहा कि सरकार किसानों को उनकी फसल का उचित मूल्य दिलाए। साथ ही कहा कि बरसात व ओलावृष्टि से किसानों की फसल को जो नुकसान हुआ है, वहां के किसानों को मुआवजा दिया जाए। वह पूर्व जिला अध्यक्ष गजेंद्र सिंह दबथुवा के यहां निजी समारोह में शामिल होने आए थे। वहीं, बीमार चल रहे भाकियू पदाधिकारी जगवीर दबथुवा का हाल-चाल जानने वह उनके घर पहुंचे।

मेरठ से सटे गांव रोहटा में आयोजित भारतीय किसान यूनियन की पंचायत में 14 मार्च को दिल्ली चलने का आह्वान किया गया। भाकियू के कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों की पंचायत में ग्रामीणों से कहा कि सभी कार्यकर्ता एवं किसान भारी संख्या में दिल्ली चलकर किसान संघर्ष को मजबूत करने एवं संगठन को मजबूती देने का कार्य करेंगे।

इस दौरान गांव रोहटा में सभी किसानों एवं कार्यकर्ताओं ने हाथ उठाकर एकता बनाए रखने का आश्वासन दिया। इस दौरान संगठन विस्तार अभियान को लेकर जागरूक किया। भाकियू के पदाधिकारी महबूब सोलाना ने कहा कि 14 मार्च को जनपद मेरठ के सभी ग्रामों से हजारों किसान दिल्ली पंचायत में प्रतिभाग करने जाएंगे। इसकी तैयारी सभी अपने-अपने स्तर से कर रहे हैं और यूनियन के पदाधिकारी लगातार किसानों से संपर्क बनाए हुए हैं।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,237FansLike
5,309FollowersFollow
45,451SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय