Wednesday, April 10, 2024

मुजफ्फरनगर में सपा विधायक पंकज मलिक पर मुकदमा दर्ज, राकेश शर्मा को भी लपेटा

मुजफ्फरनगर। जनपद में समाजवादी पार्टी के चरथावल विधायक पंकज मलिक के खिलाफ पुलिस ने निषेधाज्ञा उल्लंघन के मामले में मुकदमा दर्ज कराया है। मुकदमे में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राकेश शर्मा को भी नामजद कराया है। 11 दिन पहले निषेधाज्ञा उल्लंघन के आरोप में दर्ज कराई गई एफआईआर की जानकारी मिलते ही सियासी हल्कों में हलचल मच गई।

आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी के विधायक पंकज मलिक के साथ ही पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राकेश शर्मा के खिलाफ गंभीर आरोप में पुलिस ने जिले के एक थाने में मुकदमा दर्ज कर लिया। उसकी विवेचना भी शुरू कर दी गई और मजे की बात यह है कि इसकी किसी को कानों कान खबर तक भी नहीं लगी। सपा विधायक और नेता पर यह मुकदमा थाने के ही एक उप निरीक्षक की जुबानी सूचना पर दर्ज कराया गया है। मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस गुपचुप तरीके से जांच और कागजी कार्यवाही में जुटी हुई है।

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

 

समाजवादी पार्टी के चरथावल विधानसभा क्षेत्र से विधायक पंकज मलिक के पिता पूर्व सांसद हरेन्द्र मलिक पार्टी में राष्ट्रीय महासचिव हैं। वो वर्तमान में मुजफ्फरनगर संसदीय सीट से इंडिया गठबंधन में सपा प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं। उनके विधायक पुत्र पंकज मलिक भी उनके चुनाव प्रचार में जुटे हैं। हरेन्द्र मलिक का मुकाबला इस चुनाव में भाजपा प्रत्याशी केन्द्रीय मंत्री डाॅ. संजीव बालियान से ही माना जा रहा है।

 

ऐसे में दोनों प्रतिद्वंद्वियों के बीच जुबानी जंग तो खूब चल ही रही है, अब सपा प्रत्याशी पूर्व सांसद हरेन्द्र मलिक के विधायक पुत्र पंकज मलिक के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने की खबर है। हालांकि अभी इसकी किसी को कानों कान भनक नहीं लगी और जिले के एक थाने में पंकज मलिक के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो जाने के साथ ही जांच भी शुरू कर दी गई है। विधायक पंकज मलिक के साथ पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राकेश शर्मा को भी इस मुकदमे में लपेटा गया है। थाने के दरोगा ने जुबानी शिकायत करते हुए यह एफआईआर दर्ज कराई है। इसके लिए कोई तहरीर नहीं दी गयी है।

 

राकेश शर्मा का पिछले दिनों एसएसपी अभिषेक सिंह के साथ युवा ब्राह्मण नेता बिट्टू शर्मा की सड़क हादसे में मौत के कारण एफआईआर दर्ज कराने की मांग को लेकर विवाद हो गया था। हालांकि एसएसपी ने सकारात्मक दृष्टिकोण अपनाकर इस विवाद को सुलझा लिया था, लेकिन अब राकेश शर्मा के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने के कारण इस विवाद को लेकर भी शक जाहिर किया जा रहा है। राकेश शर्मा शहर विधानसभा से बसपा के टिकट पर और उनकी पत्नी नगरपालिका चेयरमैन पद के लिए सपा के टिकट पर चुनाव लड़ चुके हैं। विधायक पंकज मलिक के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने को लेकर जब उनके पिता पूर्व सांसद हरेन्द्र मलिक ने कहा कि उनको ऐसे किसी मुकदमे की जानकारी नहीं है, अगर एफआईआर दर्ज हुई है तो वो अपने अधिवक्ता के सहारे इसके बारे में जानकारी जुटाने का काम करेंगे।

दरोगा शैलेन्द्र कुमार गौड की जुबानी सूचना पर सिविल लाइन थाने में विधायक पंकज मलिक और सपा नेता राकेश शर्मा के खिलाफ निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने पर 18 मार्च को ही मुकदमा दर्ज कर लिया गया। मामले में एसएचओ ओमप्रकाश शर्मा ने थाने के एसआई सतेन्द्र सिंह ढिल्लो को मुकदमे की विवेचना भी सौंप दी, लेकिन इसकी थाना पुलिस या पुलिस अफसरों ने किसी को भी कानों कान खबर नहीं होने दी।

एसएचओ ओमप्रकाश ने इस सम्बंध में बताया कि विधायक पंकज मलिक और राकेश शर्मा राजनीतिक पार्टी से सम्बंध रखते हैं, उनको वहां नहीं जाना चाहिए था। शिक्षक नेताओं पर मुकदमा दर्ज नहीं होने के सवाल को वो टाल गये। गुपचुप कार्यवाही पर उन्होंने कहा कि मुकदमा दर्ज होने के अगले दिन ही हमने मीडिया के साथ यह जानकारी साझा कर दी थी। इसमें किसी भी प्रकार के सत्ता के दबाव से उन्होंने इंकार किया है।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,237FansLike
5,309FollowersFollow
45,451SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय