Tuesday, February 27, 2024

अभिभाषण पर चर्चा: विपक्ष ने उठाये महंगाई, बेराेजगारी, मणिपुर जैसे मुद्दे

नयी दिल्ली। राष्ट्रपति के अभिभाषण पर लोकसभा में दूसरे दिन सोमवार की चर्चा में विपक्षी सदस्यों ने सरकार पर मंहगाई और बेरोजगारी जैसी आम लोगों से जुड़ी समस्याओं का समाधान करने में विफल रहने का आरोप लगाया और कहा कि गरीबी कम होने के सरकार दावे में कोई दम नहीं है।

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

 

तृणमूल कांग्रेस की शताब्दी राय ने चर्चा में भाग लेते हुये कहा कि राष्ट्रपति के अभिभाषण में महंगाई , बेरोजगारी, किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी और मणिपुर की स्थिति का कोई जिक्र तक नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि उज्जवला योजना के अंतर्गत गरीब लोगों को रसोई गैस कनेक्शन दे तो दिये गये हैं लेकिन सरकार को यह भी बताना चाहिये कि गैस सिलेंडर को रिफिल कितने लोग करा पा रहे हैं।

 

सुश्री राय ने कहा कि सरकार ने उड़ान योजना के माध्यम से चप्पल पहनने वालों को विमान यात्रा सुलभ कराने के दावे किये थे लेकिन आज हवाई यात्रा के किराये इतने बढ़ गये हैं कि गरीब उस बारे में सोच भी नहीं सकता।
शिरोमणि अकाली दल की हरसिमरत कौर ने कहा कि अच्छे दिन आने की तो बहुत बातें की जाती हैं लेकिन किसानों, महिलाओं, गरीबों और बेरोजगारों के लिये वाकई क्या अच्छे दिन आ गये हैं। उन्होंने कहा कि आज हर दूसरा युवा बेरोजगार है। बड़ी संख्या में विद्यार्थी बेहतर शिक्षा के लिये देश से बाहर जाने को मजबूर हैं। उन्होंने मुफ्त अनाज याेजना का जिक्र करते हुये कहा कि जब 80 करोड़ लोग राशन के लिये सरकार पर निर्भर हैं तो अच्छे दिनों का क्या अर्थ बनता है।

 

पंजाब के बठिंडा लोकसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रही पूर्व केन्द्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने पाकिस्तान की ओर से पंजाब में ड्रोन के माध्यम से हथियारों और नशीले पदार्थों की तस्करी की समस्या पर चिंता व्यक्त करते हुये इस पर ठोस कार्रवाई किये जाने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि पंजाब के युवा नशाखोरी का शिकार हो रहे हैं जो गंभीर चिंता का विषय है।
उन्होंने कहा कि सरकार की उपलब्धियां अपनी जगह हैं लेकिन उन्हें बार-बार गिनाने के बजाय वर्तमान समस्याओं और चुनौतियों पर ध्यान देना चाहिये।

 

कांग्रेस के बैन्नी बेहनन कहा कि मोदी की गारंटी की बड़ी चर्चा की जाती है लेकिन देश में बेरोजगारी से हाल बुरा है। उन्होंने सवाल किया कि मणिपुर के लोगों के लिये मोदी की गारंटी के क्या मायने हैं? बेहनन कहा कि लोगों को धर्म के आधार पर लोगों को विभाजित किया जा रहा है।

 

इससे पहले आज चर्चा की शुरुआत करते हुये शिवसेना के रंग अप्पा बारणे ने कहा कि मोदी सरकार के 10 वर्ष गरीब कल्याण को समर्पित रहे हैं। इस सरकार से देश की जनता को बहुत आशा है और यह लोगों की आकांक्षाओं पर खरी उतरी है। हर गांव को सड़कों और इंटरनेट से जोड़ा गया है। बेघरों को घर उपलब्ध कराये जा रहे हैं। मिशन मोड पर युवाओं को नौकरियां दी जा रही हैं। मोदी सरकार के कामों से देश के लोगों का आत्मविश्वास बढ़ा है।

बारणे ने कहा कि जी-20 सम्मेलन के बाद भारत की छवि और उज्जवल हुई है। चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर चंद्रयान उतारने वाला भारत पहला देश बना है। अयोध्या में राम मंदिर बनवाया गया है। वन रैंक-वन पेंशन की वर्षों पुरानी मांग पूरी की गयी है। आयुष्मान योजना से करोड़ों लोगों का लाभ मिल गया है।

 

भारतीय जनता पार्टी के सत्यपाल सिंह ने कहा कि राष्ट्रपति का अभिभाषण मोदी सरकार के कार्यक्रमों का दिग्दर्शन है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत मातृभाषा को प्राथमिकता दी गयी है। राममंदिर का निर्माण किया गया है। दासता के सभी चिह्नों को समाप्त किया जा रहा है।

सिंह ने कहा कि संविधान में उल्लिखत ‘इंडिया दैट इज भारत’ को हटाकर भारत लिखा जाना चाहिये। देश का नाम भारत ही होना चाहिये।

 

जनता दल :यू: के आलोक कुमार सुमन ने बिहार के लिये अनुदान की बकाया राशि जल्द जारी किये जाने के मांग करते हुये कहा कि इससे राज्य का सर्वांगीण विकास किया जा सकेगा। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न का सम्मान दिये जाने की घोषणा के लिये मोदी सरकार को धन्यवाद दिया।

 

भारतीय जनता पार्टी के पी पी चौधरी ने कहा कि मोदी सरकार के कार्यकाल में शिक्षा के क्षेत्र में आमूल-चूल परिवर्तन हुआ है। देश में मेडिकल कालेज की संख्या बहुत बढ़ गयी है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति से हर वर्ग के विद्यार्थी मेडिकल, वकालत, इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर सकेंगे और देश का नाम रोशन कर सकेंगे।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,381FansLike
5,290FollowersFollow
41,443SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय