Monday, June 24, 2024

दिल्ली के अस्पताल में लगी आग, छह नवजात बच्चों की मौत

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में यमुनापार (पूर्वी दिल्ली) के विवेक विहार स्थित दो मंजिला बेबी डे केयर सेंटर में शनिवार रात आग लग गई। आग में छह नवजात बुरी तरह झुलस गए। इनकी मौत हो गई। दमकल विभाग के अनुसार इस दौरान कुल 12 बच्चों को रेस्क्यू किया गया, एक बच्चा वेंटिलेटर पर है और पांच बच्चे अस्पताल में भर्ती हैं। यह सेंटर विवेक विहार के ब्लॉक बी में है।

दमकल विभाग के अनुसार, सभी को एंबुलेंस के जरिये पास के गुप्ता नर्सिंग होम व ईस्ट दिल्ली एडवांस नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया है। सूचना मिलते ही दमकल व पुलिस की टीमें मौके पर पहुंचीं। बचाव दल ने सभी नवजात को खिड़की के रास्ते बाहर निकाल। दमकल विभाग ने एक घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। हादसे के बाद सेंटर का संचालक और कर्मचारी फरार हो गए। अभिभावकों को भी कोई सूचना नहीं दी गई। पुलिस अभिभावकों का पता लगाने की कोशिश कर रही है।

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

जिला पुलिस उपायुक्त सुरेंद्र चौधरी ने बताया कि शनिवार रात 11:30 बेबी केयर सेंटर में आग लगने की सूचना मिली। तत्काल दमकल विभाग व पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। केयर सेंटर के भू-तल से लोगों ने धुआं निकलते देखा था। देखते ही देखते आग ऊपरी मंजिलों पर पहुंच गई। आग की लपटों ने पूरी इमारत को चपेट में ले लिया। दमकल व पुलिस ने केयर सेंटर के पीछे की साइड से खिड़कियों को तोड़ा और सभी नवजात को एक-एक करके बाहर निकाला। जैसे-जैसे नवजात बाहर लाए गए, उन्हें दूसरे अस्पताल में भर्ती कराया गया। शुरुआती तौर पर आग का कारण शार्ट सर्किट बताया जा रहा है।

पुलिस का कहना है कि सूचना मिलते ही मौके पर टीम को भेजा गया। तब तक आग सी-54, विवेक विहार स्थित बेबी केयर न्यू बोर्न हॉस्पिटल और उसके आसपास की इमारत में फैल चुकी थी। एक नवजात की मौत आग लगने से पहले हो चुकी थी। सभी 12 नवजात शिशुओं को दमकल विभाग और अन्य लोगों की मदद से बाहर लाकर पूर्वी दिल्ली एडवांस एनआईसीयू अस्पताल, डी-237, विवेक विहार में स्थानांतरित किया गया। इन शिशुओं में से छह को मृत घोषित कर दिया गया। सभी सात शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए जीटीबी अस्पताल भेज दिया गया है। अस्पताल के मालिक नवीन किची पश्चिम विहार में रहते हैं। उनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि आग से सेंटर के दोनों तरफ स्थित एक चार मंजिला और एक दो मंजिला इमारत भी चपेट में आ गईं। इस दौरान अस्पताल में रखे आक्सीजन के सिलेंडर जोरदार धमाके के साथ दूर जा गिरे। एक सिलेंडर 100 मीटर दूर स्थित आईटीआई परिसर में जाकर गिरा।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,188FansLike
5,329FollowersFollow
60,365SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय