Saturday, April 13, 2024

आईआईटी कानपुर के पूर्व छात्र डॉ. राजीव गौतम ने 250,000 अमेरिकी डॉलर का दिया दान

कानपुर। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर के पूर्व छात्र डॉ. राजीव गौतम ने आईआईटीके के केमिकल इंजीनियरिंग विभाग में तीन एंडोवेड कार्यक्रम स्थापित करने के लिए 250,000 अमेरिकी डॉलर का महत्वपूर्ण योगदान दिया है। यह जानकारी आईआईटी प्रबंधन की ओर से दी गई।

 

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

प्रबंधन ने बताया कि यह पहल आईआईटी कानपुर, आईआईटी कानपुर फाउंडेशन और डॉ. गौतम के बीच हस्ताक्षरित त्रिपक्षीय समझौता ज्ञापन (एमओयू) के अंतर्गत की गई है। इस राशि का उपयोग एक एंडोवेड फैकल्टी चेयर, एक फैकल्टी फैलोशिप और छात्रों के लिए ट्रैवल ग्रांट कार्यक्रम की स्थापना के लिए किया जाएगा।

इस मौके पर आईआईटी कानपुर के निदेशक प्रो. एस. गणेश ने कहा कि हम अपने अल्मा मेटर को उदार समर्थन के लिए डॉ. राजीव गौतम के आभारी हैं। एंडोवेड फैकल्टी चेयर, यंग फैकल्टी फेलोशिप और ट्रैवल ग्रांट का योगदान संस्था को अधिक मजबूत अनुसंधान प्रयासों को सुविधाजनक बनाने, युवा फैकल्टी की प्रतिभा को पहचानने और छात्रों को वैश्विक प्रदर्शन के अवसर प्रदान करके फैकल्टी और छात्र प्रयासों को समृद्ध करेगी। मुझे यकीन है कि ये कार्यक्रम उभरते शोधकर्ताओं को सशक्त बनाकर केमिकल इंजीनियरिंग विभाग में शैक्षणिक और अनुसंधान गतिविधियों को और मजबूत करेंगे।

इस सहयोग के तहत समर्थित एंडोवेड कार्यक्रम अर्थात् ओम प्रकाश गौतम एंडोवेड फैकल्टी चेयर, राजीव और जॉयस गौतम फैकल्टी फैलोशिप और राजीव और जॉयस गौतम ट्रैवल ग्रांट, केमिकल इंजीनियरिंग के क्षेत्र में भविष्य के लीडरों के पोषण के लिए डॉ. गौतम की प्रतिबद्धता को दर्शाते हैं।

डॉ. राजीव गौतम ने कहा कि अनुसंधान और शैक्षणिक उत्कृष्टता को बढ़ावा देने के लिए अपने अल्मा मेटर को हर संभव तरीके से योगदान देने में सक्षम होना मेरे लिए बहुत गर्व की बात है। केमिकल इंजीनियरिंग विभाग ने मुझे मेरी पेशेवर यात्रा और सफलता के लिए एक मजबूत तकनीकी नींव स्थापित करने के लिए संसाधन प्रदान किए। मुझे उम्मीद है कि ये एंडोवेड कार्यक्रम केमिकल इंजीनियरिंग के क्षेत्र में बदलाव लाने वालों की अगली पीढ़ी को सशक्त बनाएंगे।

1974 में आईआईटीके से केमिकल इंजीनियरिंग में स्नातक होने के बाद, डॉ. गौतम ने उद्योग की मांगों को पूरा करने के लिए रचनात्मक समाधानों का नेतृत्व करते हुए इस क्षेत्र में अपनी पहचान बनाई। उन्होंने रिफाइनिंग, पेट्रोकेमिकल और गैस प्रसंस्करण क्षेत्रों के लिए विभिन्न उत्प्रेरक और पृथक्करण अनुप्रयोगों के निर्माण और परिचय में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। हनीवेल के साथ चार दशक लंबे कार्यकाल के दौरान, डॉ. गौतम हनीवेल परफॉर्मेंस मैटेरियल्स एंड टेक्नोलॉजीज के एमेरिटस अध्यक्ष के पद से सेवानिवृत्त हुए। उनके व्यापक कार्य को मान्यता देते हुए, आईआईटी कानपुर ने 2020 में डॉ. गौतम को विशिष्ट पूर्व छात्र पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,237FansLike
5,309FollowersFollow
45,451SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय