Wednesday, July 17, 2024

अब नोएडा में पशुपालकों को घर बैठे मिलेगी पशुओं के बेहतर उपचार की सुविधा,हेल्पलाइन नंबर 1962 पर करना होगा फोन

नोएडा । अब जनपद गौतमबुद्ध नगर के पशुपालकों को घर बैठे उनके पशुओं को बेहतर उपचार की सुविधा मिलेगी।
जनपद के पशुपालक टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 1962 पर फोन कर इस सुविधा का लाभ उठा सकेंगे।
 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा लखनऊ में इस सुविधा का शुभारंभ करने के साथ ही उत्तर प्रदेश के पशुपालक अपने पशुओं के अस्वस्थ होने पर टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 1962 पर फोन करने के बाद घर बैठे ही उन्हें अपने पशुओं के उपचार की सुविधा मिल सकेगी।  लखनऊ में  201 करोड़ रुपए की लागत से 520 मोबाइल वेटरिनरी यूनिट के शुभारंभ के बाद जेवर  विधायक धीरेंद्र सिंह तथा जिला अधिकारी मनीष वर्मा द्वारा सूरजपुर स्थित जिला मुख्यालय पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान जनपद की वेटरिनरी मोबाइल यूनिट को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया।
कार्यक्रम के दौरान विधायक धीरेंद्र सिंह ने जनपद के पशु चिकित्सा अधिकारियों का आह्वान करते हुए कहा कि  प्रदेश सरकार के  द्वारा आज पशुपालकों के लिए  महत्वपूर्ण योजना प्रारंभ की गई है। उन्होंने सभी पशु चिकित्सा अधिकारियों से इस योजना को गुणवत्ता एवं मानकों के अनुरूप संचालित करने का आह्वान किया। जिससे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंशा के अनुरूप इस महत्वाकांक्षी योजना का जनपद के समस्त पशुपालकों को भरपूर लाभ प्राप्त हो सके। उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 1962 पर पशुपालकों के द्वारा जो कॉल की जाए उनका तुरंत संज्ञान लेते हुए घर बैठे पशुपालकों को पशुओं का इलाज संभव कराया जाए ताकि सरकार की इस योजना का सरलता के साथ सभी पशुपालकों को  लाभ मिल सके।
 उन्होंने कहा कि इस महत्वाकांक्षी योजना के तहत दो मोबाइल वेटरिनरी यूनिट निर्धारित रूट पर प्रतिदिन सुबह 8 बजे से अपराह्न 2 बजे तक संचालित होंगी। अतः  सभी यूनिट अपने कार्यक्रम के तहत ग्रामों में पहुंचकर पशुपालकों को इस योजना का लाभ उपलब्ध कराएंगे। इसी प्रकार दो वाहन आपातकालीन सेवा में प्रतिदिन प्रातः 10 बजे से रात्रि 8 बजे तक सेवा प्रदान करेंगे। कार्यक्रम के दौरान मुख्य विकास अधिकारी तेज प्रताप मिश्र, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी बीके अग्रवाल सहित अन्य उपस्थित रहे।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,098FansLike
5,348FollowersFollow
70,109SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय