Wednesday, April 17, 2024

शिक्षक की गोलियों से भूनकर हत्या,शामली में शिक्षकों ने किया बोर्ड परीक्षा के मूल्यांकन का बहिष्कार

मुज़फ्फर नगर लोकसभा सीट से आप किसे सांसद चुनना चाहते हैं |

शामली। मुजफ्फरनगर में वाराणासी से बोर्ड परीक्षा की काफी लेकर आ रहे एक शिक्षक की कॉपियों की सुरक्षा में तैनात एक सिपाही द्वारा गोली मारकर हत्या किए जाने की सूचना के बाद शामली में शिक्षकों ने आर इंटर कॉलेज में चल रहे मूल्यांकन कार्य का बहिष्कार किया तथा आरोपी पुलिस कांस्टेबल को बर्खास्त कर उसके विद्युत कड़ी कार्रवाई की मांग की।

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

जनपद शामली में शिक्षक प्रतिदिन की भांति आर इंटर कॉलेज में बोर्ड परीक्षा की कॉपियों का मूल्यांकन करने में व्यस्त है जैसे ही उन्हें सूचना मिली कि गत रात्रि मुजफ्फरनगर में कापियों की सुरक्षा में तैनात एक सिपाही चन्द्रमोहन प्रकाश ने अपने साथी शिक्षक धर्मेंद्र की अपनी कारबाइन से 10 गोलियां चलाकर जघन्य हत्या कर दी तो सभी शिक्षको ने मुल्याकन का बहिष्कार आरोपी कांस्टेबल के विरुद्ध बर्खास्तगी की कार्रवाई कर कड़ी सजा देने की मांग की।

गौरतलब है कि गत रात्री चन्द्रमोहन नामक सिपाही ने सरकारी कार्बाइन से गोलियां चलाकर शिक्षक को मौत के घाट उतार दिया। हाईस्कूल परीक्षा की कॉपी लेकर वाराणसी से मुजफ्फनगर आए थे।बताया जाता है कि शिक्षक धर्मेन्द्र से दारू के नशे में धुत सिपाही चन्द्रमोहन ने पहले तम्बाकू मांगा,फिर शिक्षक के साथ गाली–गलौज किया, बाद में गोली मारी।मृतक शिक्षक धर्मेन्द्र कुमार चंदौली जिले के बैरठ निवासी थे। आरोपी सिपाही चंद्र प्रकाश वाराणसी पुलिस लाइन में तैनात है।पुलिस ने पूछताछ के लिए अन्य शिक्षकों, पुलिसकर्मियों को हिरासत में लिया।यूपी बोर्ड हाईस्कूल परीक्षा की कॉपी देने मुजफ्फरनगर आये थे शिक्षक।आरोपी सिपाही चंद्र प्रकाश ने शराब के नशे में गाड़ी में ही चलाई गोलियां। सिविल लाइन थाने के एसडी इंटर कॉलेज के पास यह हुई घटना हई।

 

घटना की जानकारी मिलते ही शामली के आर के इंटर कॉलेज में बोर्ड परीक्षा की कॉपियों का मूल्यांकन कर रहे शिक्षक ग्राउंड में इकट्ठा हो गए और उन्होंने वहां पर धरना प्रदर्शन किया तथा मुख्यमंत्री को संबोधित विज्ञापन जिला विद्यालय निरीक्षक को दिया जिसमें उन्होंने मृतक शिक्षक को करोड रुपए मुआवजा दिए जाने तथा मृतक अक्षित को क्लास 2 में नौकरी दिए जाने की मांग की तथा आरोपी पुलिस कर्मी को बर्खास्त कर उसके विरुद्ध कठोर कार्रवाई की मांग की साथी शिक्षकों की ड्यूटी किसी संवेदनशील जगहों पर न लगाए जाने की मांग की शिक्षकों ने चेतावनी दी जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं की जाती तब तक बोर्ड परीक्षा के मूल्यांकन का बहिष्कार रहेगा।

 

Related Articles

STAY CONNECTED

74,237FansLike
5,309FollowersFollow
46,191SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय